‘स्विस लीक्स’ की जानकारी पहले से

नई दिल्ली | एजेंसी: वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा सरकार को काले धनधारियों के खिलाफ सबूत चाहिये. उन्होंने कहा कि सरकार के पास ‘स्विस लीक्स’ के नामों की जानकारी पहले से थी. केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को कहा कि सरकार ने 350 विदेशी खातों की जांच का काम पूरा कर लिया है, जबकि ऐसे 60 खाताधारकों के खिलाफ कर चोरी की कार्रवाई शुरू कर दी गई है. मीडिया में सोमवार को प्रकाशित एक रपट में कहा गया है कि एचएसबीसी बैंक की जेनेवा शाखा में 2006-2007 के दौरान खाताधारकों की सूची में 1,100 से अधिक भारतीयों के नाम शामिल हैं.

जेटली ने इस रपट पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा, “जो जानकारी सोमवार सामने आई है, वह हमारे पास पहले से ही मौजूद है.”

उन्होंने कहा, “यहां सवाल खाताधारकों के नाम का नहीं, बल्कि हमें साक्ष्यों की जरूरत है. इस संदर्भ में कुछ नए नामों का भी पता चला है, और अधिकारी उनका सत्यापन करेंगे.”

उन्होंने आगे कहा कि आयकर विभाग द्वारा की गई एक स्वतंत्र जांच के जरिए 60 मामलों की पुष्टि की जा चुकी है.

जेटली ने कहा 31 मार्च तक बाकी बचे खातों की जांच का कार्य पूरा कर लिया जाएगा.

उन्होंने कहा कि सरकार कुछ नामों के आधार पर ‘स्विस लीक्स’ संबंधित रपटों पर कार्रवाई नहीं कर सकती.

सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय द्वारा काले धन की बरामदगी के लिए गठित विशेष जांच टीम को ऐसे लगभग 628 खाताधारकों की सूची सौंपी है.

अधिकारियों ने दिसंबर में कहा था कि विदेशों में जमा काले धन के संदर्भ में जो खुलासा हुआ है, उसमें एचएसबीसी बैंक की जेनेवा शाखा में मौजूदा 628 भारतीय खाताधारकों के नाम शामिल हैं, और यह सूची भारत को फ्रांस से मिली थी.

सर्वोच्च न्यायालय को सौंपी गई एसआईटी की रपट के मुताबिक, इनमें से 289 खाते बिल्कुल खाली हैं और उनमें कोई भी धनराशि नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *