‘जंगलराज’ का जुड़वा ‘जंतर-मंतर’: मोदी

पटना | समाचार डेस्क: प्रधानमंत्री मोदी ने लालू-नीतीश को ‘जंगलराज’ का जुड़वा भाई ‘जंतर-मंतर’ कहा है. उन्होंने लालू-नीतीश के महागठबंधन पर तंज कसते हुये लालू के समय के ‘जंगलराज’ को नीतीश कुमार के ‘जंतर-मंतर’ के जुड़वा भाई की संज्ञा दी है. इस तरह से प्रधानमंत्री ने नीतीश कुमार के एक तांत्रिक के पास जाने को लोकतंत्र के लिये हानिकारक करार दिया है. प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को बिहार में चुनावी सभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार एक ऐसे गड्ढे में गिर गया है जहां से बाहर निकालने के लिए दो-दो इंजनों की जरूरत पड़ेगी. उन्होंने रैली में पहुंचे लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार के विकास के लिए अब दिल्ली और बिहार के रूप में दो इंजनों की जरूरत है. उन्होंने कहा कि जंगलराज को ‘जंतर-मंतर’ के रूप में जुड़वा भाई मिल गया है. एक बार फिर मोदी ने आरक्षण को लेकर नीतीश और लालू पर झूठ बोलने का आरोप लगाया. मोदी रविवार को पांचवें चरण के मतदान से पूर्व मधुबनी, मधेपुरा और कटिहार में अलग-अलग चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने लालू प्रसाद और नीतीश कुमार पर खूब निशाना साधा.

मोदी ने एक बार फिर नीतीश के तांत्रिक से मिलने पर चुटकी लेते हुए कहा, “पहले तो केवल जंगलराज था, लेकिन अब ‘जंतर-मंतर’ के रूप में जुड़वा भाई मिल गया है. इन दोनों का इस चुनाव में सफाया तय है. वे लोकतंत्र का मजाक उड़ा रहे हैं.”


नीतीश और लालू प्रसाद पर आरक्षण को लेकर भ्रम फैलाने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, “लालू 70 वर्ष एक पुरानी किताब लेकर घूम रहे हैं. उन्होंने दावा करते हुए कहा कि ये दोनों नेता 24 और 25 जुलाई 2005 में एक सभा में आरक्षण पर पुनर्विचार की बातें करते थे. उस वक्त का आप अखबार निकाल कर देख लें.”

उन्होंने कहा कि किसी भी राजनीतिक पार्टी में इतनी ताकत नहीं की बाबा साहेब के आरक्षण को कोई छीन सके.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 35 साल शासन किया लेकिन उसके बाद बिहार के लोगों ने उन्हें बाहर कर दिया और आज तक उनकी वापसी नहीं हुई. इसी प्रकार 15 साल के बाद लालू को भी बाहर कर दिया और अब नीतीश की बारी है.

मोदी ने कहा, “जिन्होंने धोखा दिया, उससे नाता तोड़ने का यह चुनाव है. बिहार के लोगों ने जिसे एक बार बाहर कर दिया उसे फिर गले नहीं लगाते.”

मोदी ने जन-धन योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि इंदिरा गांधी ने बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया लेकिन हमारी सरकार ने सबसे पहले गरीबों को बैंकों तक पहुंचाने का काम किया. गरीबों के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना बनाई गई है. मोदी ने कहा कि सरकार गरीबों के लिए होती है.

मोदी ने बिहार का मतलब समझाते हुए कहा, “बिहार के बी शब्द का अर्थ ब्रिलियेंट, आई का अर्थ इनोवेटिव, एच का अर्थ हार्डवर्किंग, ए का अर्थ एक्शन ओरियेंटेड और आर का अर्थ है रिसोर्सफुल.”

उन्होंने कहा कि यही बिहार की ताकत है और इसी ताकत के भरोसे वह बिहार और हिन्दुस्तान को नई ऊंचाई पर पहुंचाने का सपना देखते हैं. वह अपने इस सपने को पूरा करने के लिए विकास के मंत्र के साथ बिहार आए हैं.

मोदी ने बिहार में इस बार राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार बनने का दावा किया. उन्होंने स्थानीय महिलाओं का एक पत्र दिखाते हुए कहा कि इस पत्र पर अंगूठा लगा हुआ है जिसे देखकर लगता है कि वह शिक्षित नहीं हैं और इसके लिए महागठबंधन जिम्मेदार है.

मोदी ने पत्र का हवाला देते हुए कहा, “बिहार में गरीब की सुनने वाला कोई नहीं है. आठ तारीख को जब राजग की सरकार बनेगी तब यहां के मुलाजिम लोगों के पास खुद पहुंचेंगे और आपकी समस्या सुनेंगे. यहां कांग्रेस, जनता दल युनाइटेड और राष्ट्रीय जनता दल ने इतने दिन राज किया, लेकिन यहां के लोगों को शिक्षा प्रदान नहीं कर सके.”

राजग के छह सूत्री कार्यक्रम की जानकारी देते हुए मोदी ने कहा कि अगर यहां के लोगों को पढ़ाई और कमाई उपलब्ध कराई जाए, तो यहां से लोगों का पलायन रुकेगा. उन्होंने कहा कि दवाई से बुजुर्गो का कल्याण होगा. राज्य में बिजली, पानी और सड़क की व्यवस्था की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!