ओवैसी से जुदा जावेद की राय

नई दिल्ली | मनोरंजन डेस्क: मशहूर लेखक-गीतकार जावेद अख्तर का मानना है कि चुनाव लड़ने पर उन्हें हिंदू-मुस्लिम दोनों का वोट मिलेगा. उनकी राय में ‘भारत माता की जय’ भले ही संविधान में नहीं लिखा है परन्तु इसे बोला जाना चाहिये. जावेद ने ओवैसी पर तंज कसते हुये कहा कि संविधान में बहुत कुछ नहीं लिखा है फिर भी उसे किया जाता है मसलन शेरवानी तथा टोपी पहनना. उन्होंने कहा ‘भारत माता की जय’ बोलना मेरा अधिकार है. जावेद अख्तर का कहना है कि अगर हिंदू और मुस्लिम की समान आबादी वाला निर्वाचन क्षेत्र मिला, तो वह ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के नेता असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे. ओवैसी हाल में ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाने से इनकार करने की वजह से सुर्खियों में हैं.

अख्तर से इंडिया टुडे कान्क्लेव-2016 में पूछा गया कि क्या वह ओवैसी के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे? जवाब में उन्होंने कहा, “मुझे मालूम है कि अगर मैंने हिंदू व मुस्लिमों की समान आबादी वाली जगह से उनके खिलाफ खड़ा हुआ, तो मुझे हर किसी से वोट मिलेंगे.”


अख्तर ने कहा कि इस पर स्पष्टीकरण दिया जाना चाहिए कि ओवैसी ने ‘भारत माता की जय’ बोलने से इनकार क्यों किया? उन्होंने कहा कि ओवैसी यह बोलकर पल्ला नहीं झाड़ सकते कि ऐसा हमारे संविधान में नहीं लिखा है.

अख्तर ने ओवैसी का नाम लिए बिना मंगलवार को उन्हें निशाने पर लेते हुए कहा था, “उन्होंने कहा कि वह भारत माता की जय नहीं बोलेंगे, क्योंकि संविधान उन्हें ऐसा करने का आदेश नहीं देता है. संविधान ने तो उन्हें शेरवानी और टोपी पहनने के लिए भी नहीं कहा है. मुझे इसकी परवाह नहीं है कि ‘भारत माता की जय’ बोलना मेरा कर्तव्य है या नहीं. इसे बोलना मेरा अधिकार है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!