आलू पर बिहार बंगाल ओडिशा में बवाल

रांची | संवाददाता: आलू के मुद्दे पर झारखंड, ओडिशा और पश्चिम बंगाल में हंगामा मचा हुआ है. झारखंड ने कहा है कि अगर बंगाल ने आलू नहीं दिया तो वह बंगाल का बिजली पानी बंद कर देगा. राजनीतिक दलों में इस बात पर भी चर्चा हुई है कि अगर बंगाल का यही रुख रहा तो झारखंड बंगाल की सब्जी आपूर्ति भी ठप्प कर देगा. इधर ओडिशा में भी बंगाल के खिलाफ जनता सामने आ गई है. आलू के मुद्दे पर तीनों सरकारों को बीच जम कर रार हो रहा है. मंत्रीमंडल की बैठक हो रही है और चेतावनियों का दौर चल रहा है.

छत्तीसगढ़ में भी आलू की बढ़ी हुई कीमत को लेकर राजनीतिक दलों में सुगबुगाहट चल रही है. पखवाड़े भर पहले 18 रुपये किलो बिकने वाला आलू 35 रुपये किलो में बिक रहा है.

पश्चिम बंगाल सरकार ने झारखंड और ओडिशा में आलू की आपूर्ति रोक दी है. इसके बाद झारखंड सरकार ने कहा है कि अगर आलू की आपूर्ति नहीं शुरु की गई तो झारखंड कड़े कदम उठाएगा और बंगाल का बिजली पानी बंद कर दिया जायेगा.

इस मुद्दे पर झारखंड सरकार के मंत्रीमंडल की बैठक भी आयोजित की गई. राज्य के कृषि मंत्री योगेंद्र साव ने कहा है कि सरकार का प्रतिनिधिमंडल बंगाल जा कर सरकार को इस बारे में समझाइस देगा. अगर बात नहीं बनी तो हम कोई भी कड़ा कदम उठा सकते हैं. उन्होंने कहा कि केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार को भी इस बारे में पत्र लिखा गया है.

राज्य के वित्त, ऊर्जा और स्वास्थ्य मंत्री राजेंद्र सिंह ने कहा है कि पश्चिम बंगाल ने झारखंड को आलू देना शुरू नहीं किया, तो हम बिजली, पानी रोक देंगे.

दूसरी ओर ओडिशा में भी आलू की आपूर्ति रोके जाने से जनता सड़कों पर उतर आई है. सैकड़ों ऐसी ट्रकों को जलेश्वरलक्ष्मणनाथ में जनता ने रोक दिया है, जिनमें मछली और प्याज बंगाल भेजे जा रहे थे. बंगाल के मुख्य सचिव संजय मित्र ने इस बारे में ओडिशा के मुख्य सचिव जुगलकिशोर महापात्र से बात कर उन ट्रकों को छुड़ाने का अनुरोध किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *