शोपियां में अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लागू

श्रीनगर | एजेंसी: जम्मू एवं कश्मीर के शोपियां में केंद्रीय आरक्षी पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवान की कथित गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन के मद्देनजर गुरुवार को अनिश्चिकालीन कर्फ्यू लगा दिया गया है.

गौरतलब है कि पहले गत शनिवार से ही शोपियां और उसके आसपास के इलाकों में तनाव व्याप्त है जिसके चलते रविवार को यहां कर्फ्यू लगाया गया था जिसे बुधवार सुबह हटा भी लिया गया था. लेकिन बुधवार रात से हालात फिर बिगड़ गए जिसे देखते हुए कर्फ्यू फिर लगाना पड़ा है.


मामले की जानकारी देते हुए स्थानीय लोगों ने बताया कि बस चालक मुहम्मद राफी राथर (28) की गंगारन शिविर में तैनात सीआरपीएफ के जवान की गोलीबारी में मौत हो गई. उन्होंने बताया कि यह घटना शोपियां शहर के नजदीक बिना किसी उकसाहट के उस वक्त हुई जब वह शिविर से हो कर गुजर रहा था. इस गोलीबारी में एक लड़की सहित दो अन्य लोग भी घायल हुए हैं.

इधर, सीआरपीएफ के अधिकारी गगारन में तैनात जवान द्वारा किसी तरह की गोलीबारी किए जाने से इंकार कर रहे हैं. श्रीनगर में सीआरपीएफ के प्रवक्ता किशोर प्रसाद ने संवाददाताओं से कहा, “सीआरपीएफ ने गोलीबारी शुरू नहीं की. हमारे जवान सड़कों पर तैनात भी नहीं थे.”

कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक अब्दुल गनी मीर ने बताया कि पुलिस मामले की छानबीन कर रही है. उन्होंने कहा कि शनिवार को गगारन में हुई गोलीबारी की घटना की भी जांच हो रही है जिसमें चार लोगों की मौत हो गई थी.

स्थानीय लोग चारों मृतकों को जहां आम नागरिक बता रहे हैं वहीं मीर का कहना है कि तीन का आतंकवाद से जुड़ा कोई रिकार्ड नहीं है और वे सभी निश्चित रूप से आम नागरिक थे. गोलीबारी में मारा गया चौथा व्यक्ति आतंकवादी था.

आईजीपी ने कहा, “स्थानीय लोग उसे बिहार का श्रमिक बता रहे हैं, लेकिन हमारे सूत्रों के मुताबिक वह आतंकवादी था.” पुलिस प्रमुख ने कहा कि दोनों मामलों को दर्ज कर लिया गया है.

इधर, अलगाववादी नेता सैयद अली गिलानी ने शोपियां में हुई मौत को लेकर कश्मीर घाटी और चेनाब घाटी के जिले किश्तवाड़, डोडा और रामबन में गुरुवार को बंद का आह्वान किया है. एक अन्य अलगाववादी संगठन जम्मू एवं कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के अध्यक्ष मुहम्मद यासिन मलिक ने भी शुक्रवार को श्रीनगर के लाल चौक पर धरने का आह्वान किया है.

मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने शहर की सुरक्षा स्थिति का जायजा लेने के लिए श्रीनगर में बुधवार शाम को उच्च स्तरीय बैठक आयोजित की थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!