JNU: कन्हैया कुमार पर जुर्माना लगा

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: जेएनयू ने कन्हैया कुमार पर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है. उमर खालिद, अनिर्बान भट्टाचार्य तथा मुजीब गट्टो को निष्कासित कर दिया गया है. जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय परिसर में कश्मीर पर हुए एक विवादित कार्यक्रम की जांच से जुड़ी एक समिति ने जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर सोमवार को 10 हजार रुपये जुर्माना लगाया, जबकि उमर खालिद, अनिर्बान भट्टाचार्य को एक सेमेस्टर के लिए तथा मुजीब गट्टो को दो सेमेस्टर के लिए निष्कासित कर दिया. विश्वविद्यालय के एक आदेश के मुताबिक, खालिद व भट्टाचार्य को इस अकादमिक सत्र का एक सेमेस्टर गंवाना पड़ेगा, जबकि गट्टो का दो सेमेस्टर नुकसान होगा.

जेएनयू द्वारा गठित एक जांच समिति द्वारा कदाचार व अनुशासनहीनता का दोषी पाए जाने के बाद यह कार्रवाई की गई है.

चीफ प्रॉक्टर ने कहा, “खालिद, भट्टाचार्य व गट्टो को ‘अ कंट्री विदाउट अ पोस्ट ऑफिस’ नामक कविता पाठ के बहाने विरोध-प्रदर्शन करने का दोषी पाया गया.”

आदेश के मुताबिक, खालिद पर 20 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है.

इस पर खालिद ने कहा, “लगता है कि हमें निष्कासित किया गया है. लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन से अभी तक इस बाबत हमें कोई सूचना नहीं मिली है. हमने सिर्फ प्रेस विज्ञप्ति पढ़ी है. उसमें नाम नहीं है, लेकिन इसका अनुमान लगाना कठिन नहीं है.”

जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर केवल जुर्माना लगाया गया है.

उल्लेखनीय है कि विश्वविद्यालय परिसर में इस साल नौ फरवरी को एक विवादित कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर लगे राष्ट्रविरोधी नारों के मामले में कन्हैया कुमार, उमर खालिद तथा अनिर्बान भट्टाचार्य पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया था.

दिल्ली पुलिस ने उस वक्त दावा किया था कि उसके पास कन्हैया कुमार व अन्य छात्रों के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं, लेकिन वे उसे न्यायालय के समक्ष पेश करने में नाकाम साबित हुए थे, जिसके कारण उन्हें जमानत मिल गई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *