कांकेर में चार जिंदा बम बरामद

कांकेर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के अंतागढ़-कोयलीबेड़ा मार्ग पर जिला पुलिस बल एवं सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने तलाशी के दौरान 10-10 फीट की दूरी पर लगाए गए चार जिंद बम बरामद किए गए हैं. सुरक्षा बलों को इसी जगह नक्सलियों के पर्चे भी मिलने की खबर है.

नक्सलियों द्वारा एक के बाद एक लगाए गए श्रृंखलाबद्ध बम की चपेट में यदि पुलिस जवान आते तो बड़ी दुर्घटना हो सकती थी लेकिन गश्त पर निकली बीएसएफ तथा जिला पुलिस बल के जवानों को बम की खबर मिल गई और एक बड़ी घटना टल गई.


बरामद चार बम में दो 4-4 किलो के थे जबकि दो का वजन 1-1 किलो था. जिस जगह पर बम बरामद किया गया है उसके आसपास नक्सलियों ने पर्चे भी फेंके हैं.

जानकारी के अनुसार, कोयलीबेड़ा से बीएसएफ तथा जिला पुलिस बल के 65 जवान अंतागढ़ मार्ग पर गश्त पर सुबह साढ़े पांच बजे निकले थे. जवानों को सुलंगी के पास मुख्यमार्ग पर एक तार दिखाई दिया. इसकी जांच की गई तो पेड़ के नीचे थोड़ी-थोड़ी दूरी पर चार बम नजर आए. इसकी सूचना बम निरोधक दस्ते को दी गई.

कांकेर से दस्ता घटनास्थल पर दोपहर करीब 12 बजे पहुंचा, जिसके बाद बमों को निष्क्रिय किया गया. चूंकि सभी प्रेशर बम थे, इसलिए उन्हें निष्क्रिय करने में करीब तीन घंटे लगे.

इस दौरान दो घंटे तक रास्ता बंद कर दिया गया था. इस कार्रवाई में कोयलीबेड़ा थाना प्रभारी अमित तिवारी, 41वीं बटालियन के कमांडेट के.के. मजुमदार, टीआईसी बलवीर सिंह, एसआई जयदेव भोई शामिल थे.

जिस जगह पर नक्सलियों ने बम लगाया था उसी के आस-पास दर्जन भर पर्चे भी मिले हैं. पर्चो में नक्सलियों ने 21 सितंबर को अपने संगठन के स्थापना दिवस को सफल बनाने की बात कही है. इसके अलावा रावघाट व चारगांव माइंस का विरोध किया है और बीएसएफ व सीआरपीएफ को क्षेत्र से वापस भेजने की मांग की गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!