जयललिता की जमानत नामंजूर

बेंगलुरू | एजेंसी: तमाम कानूनी कोशिश तथा दबाव के बाद भी जयललिता की जमानत नामंजूर कर दी गई है. गौरतलब है कि एआईएडीएमके के एक पोस्टर में धमकी दी थी कि अगर जयललिता को रिहा नहीं किया गया तो तमिलनाडु में रह रहे कन्नड़भाषी लोगों को बंधक बना लिया जाएगा.

कर्नाटक उच्च न्यायालय ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे. जयललिता को मंगलवार को जमानत नही दी. वह 27 सितंबर से जेल में बंद हैं. बेंगलुरू की एक विशेष अदालत ने उन्हें 27 सितंबर को दोषी ठहराते हुए चार साल कैद और 100 करोड़ रुपये जुर्माने की सजा सुनाई थी. उन पर मुख्यमंत्री रहते हुए आय के ज्ञात स्रोत से 66 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति जमा करने का आरोप साबित हुआ है.

अदालत से दोषी ठहराए जाने के बाद उन्हें मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था, जिसके बाद जयललिता के करीबी व ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम के वरिष्ठ सदस्य ओ. पन्नीरसेल्वम मुख्यमंत्री बने.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *