कश्मीर: पीएम ने दिए 1000 करोड़ रुपये

जम्मू | एजेंसी: प्रधानमंत्री मोदी ने जम्मू एवं कश्मीर के लिए रविवार को 1,000 करोड़ रुपये की विशेष सहायता घोषणा की. मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने शीघ्र सहायता पहुंचने का आश्वासन देते हुए लोगों से न घबराने के लिए कहा है. भारतीय वायुसेना ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में व्यापक राहत एवं बचाव अभियान शुरू किया है. बाढ़ के कारण अभी तक 100 अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

प्रधानमंत्री ने 1000 करोड़ रुपये की राहत की घोषणा करने के अलावा बाढ़ में जान गंवाने वालों के आश्रितों के लिए दो लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों के लिए 50,000 रुपये की सहायता प्रधानमंत्री राहत कोष से देने की भी घोषणा की है.


जम्मू और श्रीनगर के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करने के बाद मोदी ने कहा कि मौजूदा संकट ‘राष्ट्रीय स्तर की आपदा’ है.

मोदी ने कहा कि सेना, वायुसेना और राष्ट्रीय आपदा राहत बल राहत कार्य तेज करने में राज्य सरकार का सहयोग कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि चिकित्सा एवं अन्य सहायता आपात आधार पर मुहैया कराई जाएंगी.

मोदी ने कहा, “हम यह सुनिश्चित करेंगे कि राज्य को त्वरित चिकित्सा सेवा मुहैया हो सके. हम जम्मू एवं कश्मीर के लिए दवाएं भेज रहे हैं.”

घरों के ढहने को ध्यान में रखते हुए मोदी ने कहा कि तंबुओं की व्यवस्था की जा रही है.

उन्होंने कहा, “कई घर ध्वस्त हो गए हैं. हम बाढ़ प्रभावित इलाकों को 5000 तंबू मुहैया कराने के लिए काम करने में जुटे हैं.”

मोदी ने कहा कि सरकार लोगों को राहत पहुंचाने में जुटी है क्योंकि मौसम सर्द होने ही वाला है.

उन्होंने कहा, “चूंकि तापमान तेजी से गिर रहा है इसलिए हम राज्य को एक लाख कंबल मुहैया कराने जा रहे हैं.”

सरकार ने लेह और लद्दाख की तरफ जाने वाले मार्ग को दुरुस्त करने का निर्देश दिया है ताकि सर्दियों में राज्य के इस क्षेत्र के अलग-थलग पड़ जाने से पहले ही भोजन एवं अन्य जीवन रक्षक सामग्री पहुंचाई जा सके.

मोदी ने कहा, “सर्दियों में लेह और लद्दाख देश के शेष हिस्सों से कट जाता है. यही वह समय है जब हम आम तौर पर सभी आवश्यक वस्तुओं का भंडारण राज्य को भेजते हैं. लेकिन लेह और लद्दाख को जाने वाली सड़कों के क्षतिग्रस्त रहने से यह हमारे सामने बड़ी चुनौती है. मैंने सड़कों को तेजी से मरम्मत कराने का निर्देश दिया है ताकि समय पर आपूर्ति पहुंचाई जा सके.”

उन्होंने राज्य की जनता को भरोसा दिलाया कि इस संकट की घड़ी में वे अकेले नहीं हैं.

मोदी ने कहा, “मैं राज्य की जनता को आश्वासन देना चाहूंगा कि इस संकट में वे अकेले नहीं हैं. यह पूरे देश का संकट है.”

प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के बाढ़ प्रभावितों को भी सभी संभव सहायता देने की पेशकश की है.

मोदी ने कहा, “भारत कभी भी मानवीय काम करने से नहीं हिचकिचाएगा.” उन्होंने कहा कि सरकार पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में रहने वालों की भी हर संभव सहायता करने के लिए तैयार है.

रविवार को प्रधानमंत्री जम्मू हवाईअड्डे पर पहुंचे जहां राज्यपाल एन. एन. वोहरा और मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने उनकी अगवानी की.

मुख्यमंत्री अब्दुल्ला ने ट्वीट किया है, “यह एक अप्रत्याशित स्थिति है और हम हर संभव प्रयास कर रहे हैं. मेहरबानी कर धबराएं नहीं. हम आप तक पहुंचेंगे, भरोसा रखिए.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!