केजरीवाल ने इस्तीफे पर माफी मांगी

नई दिल्ली | एजेंसी: आम आदमी पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की अपनी सरकार गिराने पर लोगों से माफी मांगी है. केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली में सरकार बनाने की संभावना बहुत कम है और इसलिए उनकी पार्टी नए चुनाव कराने के पक्ष में है

इससे पहले केजरीवाल ने दिल्ली में नई सरकार बनाने को लेकर अपनी पार्टी की आगामी रणनीतियों पर चर्चा के लिए बुधवार को अपने आवास पर पार्टी के वरिष्ठ सदस्यों के साथ सुबह करीब नौ बजे बैठक की. इसके बाद आयोजित संवाददाता सम्मेलन में केजरीवाल ने कहा कि बैठक में नए चुनाव के लिए जनता के बीच जाने का फैसला लिया गया.

उन्होंने कहा, “लोकसभ चुनाव के जो नतीजे आए, खासकर दिल्ली के नतीजे, उससे एक चीज साफ है कि लोगों में अच्छी खासी नाराजगी है. लोकसभा चुनाव के दौरान हम देशभर में घूमे. हर जगह लोगों ने हमसे कहा कि आप ईमान हैं, हिम्मत वाले हैं, आपने बड़े-बड़े नेताओं को चुनौती दी है, लेकिन आपने दिल्ली के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा क्यों दिया? आपने हमें मंझधार में छोड़ दिया.”

केजरीवाल ने कहा, “हमने सरकार नैतिकता के आधार पर छोड़ी थी. हमें नहीं पता था कि लोग इसे गलत तरीके से पेश करेंगे. हम बिजली के बिल आधी करके गए थे. पानी फ्री कर दिया था. लेकिन हमारी सरकार जाने के बाद यहां राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया और लोगों को जो राहत हमारी सरकार ने दी थी, उसे खत्म कर दिया गया.”

केजरीवाल ने कहा, “लोगों की अपेक्षाओं को देखते हुए हमने सरकार बनाने की संभावनाओं पर चर्चा की. लेकिन इसकी संभावना हमें क्षीण नजर आई. इसलिए हमने नए चुनाव के लिए जनता के बीच जाने का निर्णय लिया है.”

केजरीवाल ने कहा, “अगले आठ-दस दिन में हम दिल्ली में कई सभाएं करेंगे और लोगों से सरकार गिराने के लिए माफी तथा पूर्ण बहुमत के साथ नई सरकार बनाने के लिए जनादेश मांगेंगे.”