पहले ‘भारत बनाओ’: केजरीवाल

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: केजरीवाल ने कहा पहले भारत को बनाने की जरूरत है. उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ की आलोचना करते हुये कहा कि पहले देश के स्वास्थ्य, शिक्षा तथा पानी को बेहतर बनाया जाये.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमरीकी दौरे पर तकनीक के दिग्गजों से हुई मुलाकात पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘मेक इन इंडिया’ की बजाय पहले मेकिंग इंडिया पर जोर देने की जरूरत है. आम आदमी पार्टी के संयोजक केजरीवाल ने ट्विटर पर लिखा, “हम अगर पहले मेक इंडिया पर ध्यान दें तो मेक इन इंडिया अपने आप हो जाएगा. मेक इंडिया स्वास्थ्य, शिक्षा, जल, सुरक्षा, न्याय और बुनियादी ढांचे में निवेश करना है.”


उन्होंने लिखा, “लोग हमारी सर्वश्रेष्ठ संपत्ति हैं. उनमें निवेश किया जाए और उसके बाद विश्व हमारे पीछे-पीछे चलेगा. आप सरकार की जन-समर्थक नीति मेक इंडिया की ओर एक कदम है. बिजली मोर्चे पर ईमानदार सरकार के सामने सभी शंकाएं छू हो गईं.”

बाद में दिल्ली विधानसभा में एक कार्यक्रम में उन्होंने केंद्रीय विधान सभा के पहले अध्यक्ष विट्ठल भाई झावेर भाई पटेल तथा स्वतंत्रता सेनानी शहीद भगत सिंह के क्रमश: 142वें व 108वें जन्मदिन पर दोनों नेताओं को श्रद्धांजलि दी और कहा कि ‘मेक इन इंडिया’ की बजाय पहले मेकिंग इंडिया पर जोर देने की जरूरत है.

उन्होंने कहा, “यदि हम मेकिंग इंडिया के लिए सही बुनियादी ढांचा, ईमानदारी पूर्वक सेवा व अनुकूल माहौल प्रदान करेंगे, तो मेक इन इंडिया के लिए हमें किसी को बुलाने की जरूरत नहीं पड़ेगी.”

मुख्यमंत्री ने लोगों को आश्वस्त किया कि सरकार ईमानदारी पूर्वक लोगों की भ्रष्टाचार मुक्त व सुशासन की इच्छाओं को साकार कर रही है.

उन्होंने कहा, “हमने लोगों से जो भी वादा किया, उसे सच्ची भावना से पूरा किया. उनके सपनों को साकार करने के लिए हम पूरी निष्ठा के साथ लोगों की सेवा में लगे हैं.”

पार्टी ने एक बयान में कहा, “आप का मानना है कि प्रधानमंत्री द्वारा देश की प्रगति के लिए किया जा रहा प्रयास पूरी तरह उचित है, लेकिन विदेशी निवेशकों को बुलाने का कोई भी अभियान तबतक सफल नहीं होगा, जब तक केंद्र सरकार अपनी प्राथमिकताएं नहीं बदलती.”

पार्टी ने कहा, “आप केंद्र सरकार से लोगों के अनुकूल नीतियों और मदद की अपील करती है.”

error: Content is protected !!