केजरीवाल की ‘आप’ को 30 करोड़ का नोटिस

नई दिल्ली|संवाददाता: केजरीवाल की आप पार्टी को आयकर विभाग ने 30 करोड़ का नोटिस थमा दिया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी की मुश्किलें लगातार बढ़ रही हैं. आयकर विभाग ने 30 करोड़ 67 लाख रुपये का नोटिस थमाकर कहा कि उन्हें अपनी रखने का पूरा पूरा मौका दिया गया, लेकिन 2014 में जमा किए गए चंदे के बारे में सही सूचना नहीं दे पाए. उनकी दी गई सारी जानकारियां गलत थीं. बता दें कि आम आदमी पार्टी के चंदे को लेकर विपक्षी दल हमेशा हमला बोलते रहे हैं.

इधर, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि इससे पहले किसी भी राजनैतिक चंदे पर कार्रवाई नहीं हुई. यह राजनीतिक प्रतिशोध लिया गया है.


केजरीवाल ने कहा कि देश नाजुक दौर में है. इस समय हिंदू-मुसलमान को आपस में लड़ाकर देश को बांटने की कोशिश की जा रही है. हिंदू मुसलमान के नाम पर भारत को बांटना ही पाकिस्तान का सबसे बड़ा मकसद और सपना है. उन्होंने भाजपा पर परोक्ष हमला बोलते हुये कहा, जो लोग देश को हिंदू मुसलमान के नाम पर बांट रहे हैं, वे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के एजेंट हैं, वे राष्ट्रभक्त का चोला पहने देशद्रोही हैं. 

आम आदमी पार्टी ने रविवार को अपना पांचवां स्‍थापना दिवस मनाया. आयोजित कार्यक्रम में संयोजक अरविंद केजरीवाल ने केंद्र में सत्तारुढ़ भाजपा पर आरोप लगाया कि वह सांप्रदायिकता की राजनीति कर पाकिस्तान के हित साध रही है. केजरीवाल ने कहा कि देश को तोड़ने का जो काम आईएसआई 70 साल में नहीं कर पाई, वह काम भाजपा ने तीन साल में कर दिया. इतना ही नहीं, भाजपा पर आरोपों के बीच केजरीवाल ने आप में मचे अंदरुनी घमासान पर भी पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि जब पार्टी और देश के हितों में विरोधाभास हो तो पार्टी के हितों को भूल जाना और देश के हित में काम करना.

भ्रष्टाचार के मामले पर भी केजरीवाल ने भाजपा को आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की तरह ही केंद्र की भाजपा सरकार ने भी तीन साल में घोटालों की झड़ी लगा दी है. उन्होंने गुजरात विधानसभा चुनाव का हवाला देते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि भाजपा की सरकारों को कांग्रेस की तरह ही उखाड़ फेंका जाए. केजरीवाल ने रामलीला मैदान से ही गुजरात के मतदाताओं से भाजपा को हराने वाले उम्मीदवार को वोट देने की अपील की चाहे वह ‘आप’ का उम्मीदवार हो या किसी अन्य दल का.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!