केजरीवाल हो रहें हैं तैयार

बेंगलुरू | समाचार डेस्क: अपनी खांसी से परेशान केजरीवाल दिल्ली के ‘दंगल’ के लिये स्वास्थ्य लाभ कर रहें हैं. दरअसल प्रधानमंत्री मोदी की सलाह के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री ने बेंगलुरु के योग केन्द्र में योगासन के द्वारा अपने व्याधियों पर नियंत्रण पाने की कोशिश कर रहें हैं. माना जा रहा है कि बेंगलुरु के योग बेंगलुरु से लौटने पर केजरीवाल मानसिक तथा शारीरिक रूप से और मजबूती के साथ उभरेंगे. उनकी अनुस्थिति में मनीष सिसोदिया मुख्यमंत्री का काम देख रहें हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल यहां के एक निजी अस्पताल में खांसी और मधुमेह का प्राकृतिक उपचार कराते हुए अपनी दैनिक दिनचर्या के हिस्से के तौर पर योग क्रियाएं और प्राणायाम भी कर रहे हैं. गुरुवार को ली गई तस्वीरों में 44 वर्षीय केजरीवाल विभिन्न योगासन करते हुए नजर आ रहे हैं. बेंगुलरू की बाहरी सीमा पर स्थित जिंदल नेचरकेयर इंस्टीट्यूट में केजरीवाल का उपचार चल रहा है.

केजरीवाल पांच मार्च को इस अस्पताल में भर्ती हुए थे. उनके शरीर को विकार रहित बनाने के लिए सुबह 5.30 बजे से लेकर शाम के छह बजे तक उपचार किया जा रहा है.

दिल्ली के युवा मुख्यमंत्री सुबह पांच बजे जागकर 30 मिनट तक टहलते हैं और ध्यान लगाते हैं, इसके बाद व्यायाम करते हैं. उपचार के क्रम में उन पर एक्यूपंक्चर, मिट्टीलेप व शिरोधारा जैसी पद्धतियां अपनाई जा रही हैं.

अधिकारियों ने कहा कि केजरीवाल दो कमरों, एक हॉल और एक उपचार कक्ष वाले आवास में रह रहे हैं.

चिकित्सकों ने कहा कि उपचार का केजरीवाल पर सकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है. उन्हें अब पहले जितनी तेज खांसी नहीं आती और उनका रक्त शर्करा स्तर भी नीचे आ गया है.

वह आहार के रूप में सब्जियां, फलों का रस, अंकुरित चना, उबली हुई सब्जियां, रोटी और सूप का सेवन करते हैं.

वह सुबह आठ बजे जलपान करते हैं, उसके बाद 11.30 बजे दिन का भोजन करते हैं, शाम के 6.30 बजे ही उन्हें रात का खाना दिया जाता है और रात नौ बजे सो जाने के लिए कहा जाता है.

हाल ही में दिल्ली की सत्ता पर धमाकेदार वापसी करने वाले केजरीवाल 16 मार्च को दिल्ली लौटेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *