केरल में शरिया आधारित वित्तीय संस्थान शुरु

कोच्चि | एजेंसी: केरल में चार सालों की कठिन मेहनत के बाद एक वित्तीय संस्थान ‘चेरामन फाइनेंशियल सर्विसिज लिमिटेड’ (सीएफएसएल) शुरू हुआ है, जो शरिया कानूनों का पालन करेगा. संस्थान किसी भी प्रकार के ब्याज आधारित ऋण के लेन-देन में शामिल नहीं होगा और शराब, जुआ, सिनेमा या तंबाकू जैसी उन गतिविधियों में भी शामिल नहीं होगा, जो शरिया कानून में निषिद्ध हैं.

सीएफएसएल ने कहा है कि किसी भी व्यक्ति की इसमें नौ फीसदी से अधिक हिस्सेदारी नहीं होगी और विदेशी हिस्सेदारी 24 फीसदी से अधिक नहीं होगी. सीएफएसएल की अधिकृत पूंजी 1,000 करोड़ रुपये आंकी गई है.

सीएफएसएल के एक निदेशक टी. बालाकृष्णन ने कहा कि कार्यालय औपचारिक तौर पर कोच्चि में शनिवार से शुरू हो चुका है. बालाकृष्णन हाल ही में राज्य के मुख्य सचिव पद से सेवानिवृत्त हुए हैं.

बालाकृष्णन ने कहा, “भारतीय रिजर्व बैंक, भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड और वक्फ बोर्ड से सभी जरूरी लाइसेंस मिल चुके हैं और लंबे समय से प्रतीक्षित संस्थान अस्तित्व में आ चुका है.”

सीएफएसएल शीर्ष कंपनी होगी, जिसमें तीन प्रमुख कारोबारी खंड होंगे -गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनी (एनबीएफसी), वेंचर कैपिटल कंपनी और आधारभूत संरचना कंपनी. कंपनी में 11 फीसदी शेयर हिस्सेदारी केरल राज्य औद्योगिक विकास निगम (केएसआईडीसी) की होगी. कंपनी में 12 निदेशक हैं, जिनमें से 10 निजी हाई नेटवर्थ व्यक्ति हैं. दो निदेशक केएसआईडीसी से हैं.

बालाकृष्णन ने कहा, “एनबीएफसी ऐसी कंपनी होगी, जो हाई नेटवर्थ व्यक्तियों से की गई जमा से संबंधित गतिविधियों को देखेगी. हम प्रथम सार्वजनिक निर्गम की अनुमति मिलने के बाद शेयर बाजारों में सूचीबद्ध हो सकते हैं.” केरल सरकार सीएफएसएल को देश में तथा मध्यपूर्व में रोड शो के जरिए बढ़ावा देगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *