प्रवासियों का ऋणी है केरल: चांडी

नई दिल्ली | एजेंसी: केरल के मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने यहां गुरुवार को कहा कि केरल विदेशों में काम करने वाले अपने अनिवासियों का ऋणी है, क्योंकि उन्होंने राज्य के विकास में अत्यधिक भूमिका निभाई है. चांडी ने यहां प्रवासी भारतीय दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित प्रवासी भारतीय सम्मेलन में यह बात कही.

चांडी ने कहा, “ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, केरल को रेमीटेंस के रूप में मिलने वाली राशि 75 हजार करोड़ रुपये पार कर गई है. वे सिर्फ पैसे ही नहीं भेजते हैं, बल्कि हमें सोचने का अंतर्राष्ट्रीय स्तर भी प्रदान करते हैं.”


उन्होंने सम्मेलन में आए प्रवासियों से कहा, “आप हमारे देश तथा हमारी संस्कृति के प्रतिनिधि हैं. आपकी ईमानदारी, कानून पालन और मेहनत से विदेशों में हमारे देशवासियों के बारे में एक सम्मानजनक प्रभाव पड़ा है.”

उन्होंने कहा, “मैं जानता हूं कि वर्षो से आपने हमारी संस्कृति, भाषा और भावना को अपने हृदय में संजोकर रखा है. आपको इसे अगली पीढ़ी तक भी पहुंचानी चाहिए. हमारी मूल्य आधारित संस्कृति कहीं भी आपका सिर गौरव से ऊंचा रखेगी.”

उन्होंने कहा कि वैश्वीकरण से काफी पहले केरलवासी दुनिया से जुड़ चुके थे. यह आज भी जारी है और लाखों मलयाली विदेश में रहकर हमारी अर्थव्यवस्था को संबल प्रदान करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!