कोलकाता में रेलकर्मी से सामूहिक दुष्कर्म

कोलकाता | एजेंसी: पश्चिम बंगाल में एक महिला कर्मचारी के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पूर्वी रेलवे ने शनिवार को उच्चस्तरीय जांच का आदेश दिया है. इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

उधर इस मामले में पश्चिम बंगाल महिला आयोग ने मामले पर स्वत: संज्ञान लेते हुए शनिवार को कहा कि वह रेलवे प्रशासन से रिपोर्ट मांगेगी. रेलवे में ग्रुप डी कर्मचारी महिला ने अपनी शिकायत में कहा कि चार लोगों ने उसके साथ कई महीने तक यौन उत्पीड़न किया.

रेलवे के पुलिस अधीक्षक उत्पल कुमार नास्कर ने कहा, “महिला की शिकायत पर तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. चौथा आरोपी अभी फरार है.”

पूर्वी रेलवे के एक प्रवक्ता ने कहा कि इस मामले में एक उच्चस्तरीय जांच का आदेश दे दिया गया है और जल्द से जल्द रिपोर्ट पेश करने को कहा गया है.

राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष सुनंदा मुखर्जी ने कहा, “पीड़िता पिछले कई सप्ताह से जिस कटु अनुभव से गुजरी उसके लिए रेलवे पूरी तरह जिम्मेदार है. हमने मामले में स्वत: संज्ञान लिया है और वरिष्ठ अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है.”

राज्य की महिला एवं बाल कल्याण मंत्री शशि पांजा ने अपने विभाग से कहा कि पुलिस को निर्देश दें कि इस मामले में तत्काल कार्रवाई करें और रिपोर्ट पेश करें.

पीड़िता शहर के चितपुर रेलवे यार्ड की कर्मचारी है. पीड़िता ने एक टेलीविजन चैनल को अपनी आपबीती में कहा कि चार लोगों ने उसके साथ बार-बार दुष्कर्म किया.

उसने कहा, “वे लगातार दिन ब दिन मेरे साथ दुष्कर्म करते रहे. उन्होंने नग्न तस्वीरें खींची, वीडियो बनाए और धमकी दी कि अगर पुलिस से शिकायत की तो इसे सार्वजनिक कर दिया जाएगा.”

पीड़िता ने शुक्रवार को राजकीय रेवले पुलिस में अपनी शिकायत दर्ज कराई. उसने कहा कि पुलिस अधिकारी उसकी शिकायत दर्ज करने के प्रति लापरवाह रहे और उन्होंने उसके साथ अभद्र बातें की.

पीड़िता ने कहा कि उसके साथ दुर्व्यवहार करने वालों ने उसे अपने पति से तलाक लेने के लिए भी दवाब डाला.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *