भारतवंशी मोदी के लिये कर रहे हैं लॉबिंग

वाशिंगटन | एजेंसी: अमरीका में रह रहे भारतवंशी इस बात के लिये लॉबिंग कर रहें हैं कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अमरीकी कांग्रेस के संयुक्त सत्र को संबोधित करने का अवसर मिले. गौरतलब है कि नरेन्द्र मोदी सितंबर माह में अमरीका का दौरा करेंगे. इससे पहले भारत के प्रधानमंत्री के रूप में राजीव गांधी, अटल बिहारी वाजपेयी और मनमोहन सिंह को यह सम्मान प्राप्त हुआ है. मोदी को आमंत्रित किये जाने के लिये अमरीका के भारतवंशियों ने बकायदा अभियान छेड़ दिया है.

उल्लेखनीय है कि प्रतिनिधि सभा के विदेशी मामलों की समिति के रिपब्लिकन अध्यक्ष एड रोयेस और सदन के सदस्य जार्ज होल्डिंग ने गत सप्ताह सदन के अध्यक्ष जॉन बोएनर को इस संबंध में पत्र लिखा था. इस पत्र के मुताबिक, “जैसा कि आप जानते हैं, भारत अमरीका का महत्वपूर्ण साझीदार है. हर स्तर पर चाहे राजनीतिक, आर्थिक या सुरक्षा संबंध हो अमेरिका का दक्षिण एशिया में इतना महत्वपूर्ण साझीदार कोई नहीं है.”

पत्र लिखे जाने के बाद यूएस इंडिया पॉलिटिकल एक्शन कमिटि ने मोदी को कांग्रेस के संयुक्त सत्र के संबोधन के लिए निमंत्रित करने के लिए अधिक से अधिक सांसदों का समर्थन जुटाने के उद्देश्य से अभियान शुरू किया है. यूएस इंडिया पॉलिटिकल एक्शन कमिटि के अध्यक्ष संजय पुरी ने रोयेस के कदम पर आभार जताते हुए कहा कि भारत के तीन पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, अटल बिहारी वाजपेयी और मनमोहन सिंह को यह सम्मान प्राप्त हुआ है.

यूएस इंडिया पॉलिटिकल एक्शन कमिटि कार्यकर्ता और उत्तरी कैरोलिना, इंडियाना और न्यूयार्क के नेता अपने-अपने राज्यों के कांग्रेस के सदस्यों से मिल कर मोदी के लिए समर्थन मांग रहे हैं.

वहीं, गैर लाभकारी नीति और अधिकारों के लिए लड़ने वाली संस्था ब्रिजिंग नेशंस फाउंडेशन के संस्थापक भारतवंशी उद्यमी प्रकाश अंबेगांवकर ने भी इसी तरह का कदम उठाया है. उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कांग्रेस में यह सम्मान देकर अमरीका भारतीय जनता और विश्व के सामने भारत-अमरीका संबंध को नए सिरे से मजबूती देने के अपने प्रयास को प्रदर्शित करेगा.”

इस संस्था ने भारतवंशियों से अपील की है कि वे अपने कांग्रेसी सदस्य को फोन कर उनसे मोदी को आमंत्रण के समर्थन में बोएनर को पत्र लिखने का निवेदन करें.

इस बात के पूरे आसार हैं कि प्रधानमंत्री मोदी, अमरीकी कांग्रेस के संयुक्त सत्र को संबोधित करेंगे. उल्लेखनीय है कि इसी नरेन्द्र मोदी को कभी अमरीका ने वीजा देने से इंकार कर दिया था. अब उसी मोदी के संबोधन को सुनने के लिये कई अमरीकी सांसद बेकरार हैं. अमंरीका में भारतवंशियों द्वारा लॉबिंग करने के पहले से ही कई अमरीकी सांसद चाहते हैं कि मोदी के उन्हें संबोधित करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *