मैनपुरी: गोकशी की अफवाह, 21 गिरफ्तार

मैनपुरी | समाचार डेस्क: मैनपुरी में कुछ तत्व गोकशी की अफवाह फैलाकर तनाव भड़काने की कोशिश कर रहे थे. जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. दरअसल, दो लोग एक मृत गाय की खाल उतार रहे थे तब शरारती तत्वों ने गोकशी की अफवाह उड़ा दी थी. दादरी में हुई हत्या के बाद पहले से ही अफवाहों का बाजार गर्म है. शुक्रवार को हुई हिंसा में अब तक 21 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. एहतियात के तौर पर इलाके में पुलिस बल तैनात किया गया है. गृहविभाग के एक प्रवक्ता ने लखनऊ में बताया कि सरकार ने शुक्रवार को करहल थाना क्षेत्र के नगरिया गांव में गोकशी की अफवाह को लेकर हुई हिंसा के मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में संबंधित क्षेत्राधिकारी सुनील कुमार को निलंबित कर दिया है. शुक्रवार की हिंसा के संबंध में 21 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

उन्होंने बताया कि कुछ लोगों ने सांप्रदायिक तनाव फैलाने के मकसद से गोकशी की अफवाह फैलाई थी. गाय की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पाया गया है कि उसकी मौत बीमारी की वजह से हुई थी, ना कि काटने के कारण.


जिलाधिकारी चंद्रपाल सिंह ने बताया कि हिंसा के इस मामले में 29 नामजद तथा 250 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है.

गौरतलब है कि मैनपुरी जिले के करहल थाने में शुक्रवार को फोन करके नगरिया गांव में कुछ लोगों द्वारा गाय काटे जाने की सूचना दी थी. मौके पर पहुंची पुलिस ने रफीक तथा लाला नामक व्यक्तियों को गाय की खाल उतारने के आरोप में गिरफ्तार किया था. पोस्टमार्टम में पाया गया कि गाय बीमारी के चलते मरी थी.

जिलाधिकारी चंद्रपाल सिंह ने शुक्रवार की घटना की जानकारी देते हुए बताया कि यहां अफवाह फैली कि एक गाय की हत्या की गई है, लेकिन जब पोस्टमार्टम कराया गया तो पता चला कि गाय कुछ समय पहले से ही मरी हुई थी. आमतौर पर जानवरों के शवों को उठाने वाले लोग गाय को ले गए थे और उसकी खाल उतार रहे थे. मौका देख कुछ असामाजिक तत्वों ने अफवाह फैली कि गाय का वध किया गया है. इसके बाद लोग सड़कों पर उतर आए और आक्रोशित हो उठे.

उन्होंने बताया कि जो लोग खाल उतार रहे थे और जिन्होंने सड़कों पर हिंसा भड़काई, उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है. मरी हुई गाय की खाल उतारने वाले दो लोगों समेत कुल 21 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

इससे पहले ग्रामीणों ने आरोप लगाया था कि घनश्याम नामक व्यक्ति की गाय को कुछ लोग हांककर अपने घर ले गये और उसे काटकर उसकी खाल उतार ली.

राज्य के वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने इस घटना को माहौल खराब करने की कोशिश करार देते हुए कहा था कि ऐसी हरकतें करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा.

इलाके में एक कंपनी पीएसी तथा फिरोजाबाद, इटावा और एटा से बुलाए गए अतिरिक्त बल तैनात किए गए हैं. स्थिति पूरी तरह शांतिपूर्ण बनी हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!