मोदी की…बात, ‘नेपाल अपना है’

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: प्रधानमंत्री मोदी ने नेपालियों को आश्वस्त किया कि ‘नेपाल अपना है’. उन्होंने नेपाल में बेजी गई रेस्कू टीम के बारे में बताया कि वहां स्निफर डॉग्स भेजे गये हैं जिससे मलबे में जिंदा दबे लोगों को खोज निकाला जा सकता है. इसी के साथ प्रधानमंत्री मोदी ने नेपाल में रीहैबिलिटेशन चलाने की बात भी की है. नरेंद्र मोदी ने रविवार को आकाशवाणी पर प्रसारित ‘मन की बात’ में भूकंप की त्रासदी झेल रहे नेपाल के प्रति दुख व्यक्त किया और हर संभव मदद का आश्वासन दिया है. मोदी ने कहा, “मैंने कच्छ भूकंप को निकट से देखा है. यह आपदा कितनी भयानक हो सकती है, उसकी कल्पना कर सकता हूं. नेपाल के भाइयों बहनों आपकी मदद के लिए भारत हमेशा आपके साथ है.”

उन्होंने कहा, “सबसे पहला काम है राहत कार्य, लोगों को बचाना, एक्सपर्ट लोगों की टीम भेजी गई है. इस आपदा के समय हर नेपाली के आंसू भी पोछेंगे, उनका साथ भी देंगे. उन लोगों का दुख भी हमारा दुख है. मलबे के नीचे जो जीवित दबे हैं उन्हें जिंदा बाहर निकालना पहला काम है. सवा सौ करोड़ देशवासियों के लिए नेपाल अपना है.”


गौरतलब है कि शनिवार को नेपाल में आए भीषण भूकंप ने नेपाल में भारी तबाही हुई है और अब तक प्राप्त खबरों के मुताबिक 1,500 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. भूकंप का असर भारत में भी उत्तरी हिस्से में रहा और विभिन्न हिस्सों से दर्जनों लोगों के मरने की खबरें आई हैं.

मोदी ने भारत की ओर से चलाए जा रहे राहत एवं बचाव अभियान के बारे में कहा, “लोगों की टीम भेजी है. विशेष रूप से प्रशिक्षित स्निफर डॉग्स भेजे गए हैं. रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद रीलीफ और उसके बाद रीहैबिलिटेशन का काम भी चलाना है. मानवता का भी कितनी बड़ी ताकत होती है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!