सदानंद कुमार बलरामपुर से रायपुर भेजे गये, कई अफसरों का तबादला

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ सरकार ने सदानंद कुमार समेत 11 आईपीएस अफसरों का तबादला किया है. इसी तरह पांच आईएएस अफसर और दो आईएफएस के विभाग में भी फेरबदल किया गया है.

बलरामपुर में माओवादियों के खिलाफ कई अभियान चलाने वाले सदानंद कुमार को पुलिस अकादमी चंदखुरी में पुलिस अधीक्षक बनाया गया है. उनकी जगह पर अंचल कुमार को बलरामपुर की कमान सौंपी गई है. दुर्ग के एडिशनल एसपी विवेक शुक्ला को कोरिया जिले का पुलिस अधीक्षक बनाया गया है. ईओडब्ल्यू में पदस्थ रजनेश सिंह को धमतरी जिले का एसपी बनाया गया है. धमतरी के एसपी मनीष शर्मा ईओडब्ल्यू के नए एसपी बनाये गये हैं.


इसी तरह कबीरधाम के एसपी रविशंकर को फिर से रायपुर बुला कर एसआईबी में उन्हें पदस्थ किया गया है, जबकि एसआईबी में एडिशनल एसपी लाल उमेद सिंह को कबीरधाम जिले के पुलिस अधीक्षक की कमान सौंपी गई है. कोरिया ज़िले के एसपी सुजीत कुमार को सीआईडी में एआईजी के पद पर भेजा गया है, वहीं बेमेतरा जिले के एसपी टी. एक्का को 16वीं बटालियन नारायणपुर के की कमान सौंपी गई है. डीके गर्ग को बेमेतरा के नये एसपी बनाये गये हैं. रायपुर में एडिशनल एसपी क्राइम अजातशत्रु बहादुर सिंह को प्रमोशन मिला है और अब उन्हें एसपी क्राइम बनाया गया है.

इसी तरह कौशल विकास, तकनीकी शिक्षा, राजस्व एवं आपदा, राहत व पुनर्वास आयुक्त, आयुक्त भू-अभिलेख और वित्त विभाग से रेणु पिल्ले को हटा कर ओएसडी और सह-सदस्य राजस्व मंडल बिलासपुर की जिम्मेवारी सौंपी गई है. रेणु पिल्ले की जगह पर एनके खाखा को सचिव राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग, राहत आयुक्त व पुनर्वास आयुक्त, आयुक्त भू-अभिलेख का जिम्मा सौंपा गया है.

मिशन संचालक राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन व अपर आयुक्त विकास आयुक्त कार्यालय के पद पर कार्यरत ऋतु सेन को एमडी सीआईडीसी का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है. हालांकि एमडी हस्तशिल्प विकास बोर्ड का काम अब वे नहीं देखेंगी. श्यामलाल धावड़े को एमडी छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है. पीएचई सचिव के पद पर पदस्थ शहला निगार को सचिव कौशल विकास, तकनीकी शिक्षा एवं रोजगार विभाग का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है.

धमतरी में आदिवासियों को ज़मीन पर कब्ज़ा के नाम पर कथित रुप से प्रताड़ित किये जाने के लिये चर्चा में आये आईएफएस अधिकारी विवेक आचार्या को संचालक तकनीकी शिक्षा, रोजगार एवं प्रशिक्षण के पद की जिम्मेवारी दी गई है. इसी तरह बी. वी. उमादेवी को संचालक तकनीकी शिक्षा, रोजगार एवं प्रशिक्षण के प्रभार से मुक्त कर दिया गया है. अब उनके पास अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल का काम रहेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!