माओवादियों ने किया दो का अपहरण

जगदलपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के बस्तर में माओवादियों द्वारा अपह्रत स्वास्थ्य विभाग के दो कार्यकर्ताओं का अब तक पता नहीं चल पाया है. इन दोनों कार्यकर्ताओं का 23 अप्रैल को उस समय माओवादियों ने अपहरण किया था, जब वे नारायणपुर में अपने काम से जा रहे थे.

इधर दोनों अपह्रत के परिजनों ने माओवादियों से अपील की है कि वे उन्हें रिहा कर दें.


गौरतलब है कि दोनों स्वास्थ्य कार्यकर्ता कमलेश करंगा और विष्णु बड्डे नारायणपुर में रहते थे. कमलेश इससे पहले अबूझमाड़ में रहते थे और सात साल पहले माओवादियों की धमकी के बाद से ही वे नारायणपुर में रह रहे थे.

इधर पुलिस ने गंगालूर के तोड़का के जंगल में एक माओवादी के मारे जाने का दावा किया है. पुलिस का कहना है कि शुक्रवार की रात पुलिस के जवान जब गंगालूर से बीजापुर लौट रहे थे, उसी समय माओवादियों ने उन पर तोड़का के जंगल में हमला बोल दिया. दोनों ओर से कोई आधे घंटे तक गोलीबारी चलती रही. शनिवार की सुबह जब पुलिस ने सर्चिग की तो उन्हें एक कथित माओवादी का शव और थ्री नॉट थ्री की एक रायफल मिली.

दूसरी ओऱ भद्राचलम ज़िले में भी पुलिस ने चार माओवादियों की गिरफ्तारी की बात कही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!