खोसो बने पाक के पीएम

इस्लामाबाद | संवाददाता: मीर हजार खान खोसो को पाकिस्तान का कार्यवाहक प्रधानमंत्री बनाये जाने के बाद उम्मीद जताई जा रही है कि पाकिस्तान में इस साल कुछ हद तक निष्पक्ष चुनाव हो सकेंगे.

कार्यवाहक प्रधानमंत्री बनने के बार मीर हजार खोसो ने भी कहा है कि 11 मई को होने वाला पारदर्शी और निष्पक्ष चुनाव उनकी पहली प्राथमिकता है और वो कार्यवाहक सरकार का कार्यकाल नहीं बढ़ाने देंगे. पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज़, मुस्लिम लीग काफ, जमाते इस्लामी, तहरीके इंसाफ और जमीअत उलेमा इस्लाम जैसे संगठनों ने भी मीर हजार के प्रति अपना विश्वास जताया है.

गौरतलब है कि 84 साल के खोसो बलूचिस्तान उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रह चुके हैं. बलूचिस्तान प्रांत के जाफराबाद जिले में गोठ आज़म खान इलाके के निवासी खोसो ने 1954 में सिंध विश्वविद्यालय से स्नातक और दो साल बाद कराची विश्वविद्यालय से कानून की डिग्री हासिल की.

ज़ुल्फ़िकार अली भुट्टो की सरकार के आखिरी दिनों यानी 20 जून 1977 में वो बलूचिस्तान उच्च न्यायालय के अस्थायी जज बने. उन्हें जिया उल हक ने स्थायी जज बनाया और एक मुख्य न्यायाधीश के तौर पर 29 सितम्बर 1991 को वे सेवानिवृत्त हुए.बाद में उन्हें संघीय शरिया अदालत में मुख्य न्यायाधीश बनाया गया. अब एक बार फिर उन पर विश्वास कर के उन्हें पाकिस्तान का कार्यवाहक प्रधानमंत्री बनाया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *