मिनीमाता पुण्यतिथि कार्यक्रम में जाना राजनीति नहीं: जोगी

कोरबा | विशेष संवाददाता: छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने मिनीमाता की पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम में उनके शामिल होने के कदम को राजनीतिक ना होकर बल्कि पूरी तरह से श्रद्धांजलि स्वरूप किया गया बताया है. मिनीमाता की 41वीं पुण्यतिथि पखवाड़ा समारोह कार्यक्रम के समापन अवसर पर कोरबा पहुँचे पत्रकारों से बात करते हुए पार्टी की आंतरिक राजनीति पर टिप्पणी करने से बचते दिखे.

कांग्रेसी नेताओं भूपेश बघेल और धनेंद्र साहू द्वारा उनके बयानों पर पार्टी हाईकमान से की गई शिकायत के बारे में पूछे जाने पर जोगी ने कहा कि जिस तरह से जिसकी मर्जी है वह कर सकता है. राज्य कांग्रेस अध्यक्ष चरणदास महंत के बारे में जोगी ने कहा कि हर आदमी अपनी क्षमता के हिसाब से कार्य करता है जैसे एक गिलास में एक गिलास पानी ही आएगा एक बाल्टी नहीं वैसे हर व्यक्ति अपनी क्षमतानुसार कार्य कर रहा है.


उन्होंने अपनी सभाओं में प्रत्याशियों को प्रोजेक्ट किए जाने की बात को नकारते हुए कहा कि वह किसी को भी प्रोजेक्ट नहीं कर रहा हैं. जो लोग उनके करीब हैं और जो उनसे प्यार करते हैं, उनके लिए उन्होंने मेहनत की है, उन लोगों को वे धन्यवाद दे रहे थे.

पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने राज्य सरकार पर भी निशाना साधा और कहा कि उद्योगों के लिए दिए जा रहे जमीन के मुआवजे के अलावा कंपनी द्वारा अर्जित मुनाफे का शेयर भी दिया जाना चाहिए.

हालांकि इससे पहले कार्यक्रम के दौरान जोगी ने शायराना अंदाज में दिए गए अपने भाषण में इशारों ही इशारों में कोरबा जिला चेम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष रामसिंह अग्रवाल और समाजसेवी के.एन.सिंह को भावी प्रत्याशियों को रूप में प्रोजोक्ट किया. यहीं नहीं उन्होने सक्ति के राजा सुरेंद्र बहादुर को रामपुर विधानसभा से राज्य के गृहमंत्री ननकीराम कंवर को शिकस्त देने वाले भावी प्रत्याशी के रूप में इशारा किया.

तेज बारिश के बीच लगभग आधे घंटे चले भाषण में जोगी ने वहां मौजूद लोगों को बांधे रखा और पूछा कि जोगी एक्सप्रेस में कौन सवार होगा जिसके बाद वहां मौजूद लगभग 10 हजार लोगों ने हाथ उठाकर अपनी स्वीकृति दी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!