मंगलयान की सफलता

चेन्नई | एजेंसी: भारतीय मंगलयान को छह कक्षाओं में से एक में उन्नत करने का काम बुधवार देर रात सफलतापूर्वक संपन्न हो गया. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के अनुसार प्रथम कक्षा उन्नतिकरण का कार्य बुधवार देर रात 1.17 बजे सफलतापूर्वक संपन्न कर लिया गया.

इसरो के अधिकारियों ने बताया कि मंगलयान की मोटरों को करीब 200 सेकेंड तक चलाया गया और उन्होंने उसकी कक्षा को ,4120 किलोमीटर से बढ़ाकर 28,785 किलोमीटर कर दिया.


अंतिम कक्षा उन्नतिकरण का कार्य 30 नवंबर को संपन्न होगा और मंगलयान को मंगल ग्रह की ओर रवाना कर दिया जाएगा. इसरो ने मंगलवार को मंगलयान का प्रक्षेपण किया था.

1,340 किलोग्राम का मंगलयान इसरो ने विकसित किया है. इस पर करीब 150 करोड़ रुपये की लागत आई है. इसमें 852 किलोग्राम ईंधन है. छहों कक्षाओं के उन्नतिकरण में करीब 360 किलोग्राम ईंधन की खपत का अनुमान है.

भारत के प्रथम मंगल अभियान पर करीब 450 करोड़ रुपये की लागत आई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!