भाषण से मोदी ने दी भारत को गति

नई दिल्ली | एजेंसी: पूरे देश ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लाल किले से दिए गए उनके पहले स्वतंत्रता दिवस भाषण की सराहना की. मोदी ने भाषण बिना पढ़े दिया जिसे लोगों ने प्रभावकारी करार दिया और कहा कि इससे देश को गति मिलेगी.

शहर दर शहर और सोशल मीडिया पर युवाओं और अन्य आयु वर्ग के लोगों ने मोदी के एक घंटे तक हिंदी में दिए गए संबोधन की पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के भाषण से तुलना की.


अपनी चिर परिचित शैली में प्रधानमंत्री ने संबोधित किया. इस दौरान वे आत्मविश्वास से भरे नजर आए. उन्होंने अपना पूरा भाषण बिना पढ़े दिया केवल कुछ नोट्स पर उड़ती सी निगाह डाली.

अधिकांश लोगों ने मोदी के लहजे की सराहना की. कुछ लोगों ने उनके भाव को सराहा.

भुबनेश्वर में इंजीनियरिंग के छात्र प्रफुल्ल साहू ने कहा, “मैं बहुत ज्यादा प्रभावित हुआ. वे दिल से संबोधित कर रहे थे. मैं व्यक्तिगत रूप से देश के विकास के लिए वह करूंगा जो मैं कर सकता हूं.”

जयपुर में राजस्थान सरकार के कर्मचारी जितेंद्र सिंह ने कहा, “यह वास्तव में एक महान भाषण था. प्रधानमंत्री ने हमें राष्ट्र को आगे ले जाने का एक रास्ता दिया.”

चेन्नई में सेवानिवृत्त बैंक अधिकारी के. श्रीनिवासन ने कहा, “इस भाषण से पता चला कि भारत के पास एक महान नेता है. यह भाषण राजनीतिज्ञ का था न कि एक राजनेता का.”

चेन्नई के ही एक निवासी और एक आईटी कंपनी में वरिष्ठ कार्यकारी सी. आर. गोपालरत्नम ने कहा, “भाषण सहज प्रवाहित और विद्युत की तरह था.”

नई दिल्ली में एक एनजीओ के साथ काम करने वाले साहिल शर्मा ने कहा, “यह विद्युत की तरह प्रवाहित भाषण था जो आत्मविश्वास से लबरेज हो कर दिया गया. उन्होंने खुद को प्रधान सेवक के रूप में बताया यह अत्यंत प्रभावशाली था.”

इसी प्रकार देश क अन्य शहरों और सोशल मीडिया पर विभिन्न तबकों और पेशे से जुड़े अनगिनत लोगों ने प्रधानमंत्री के संबोधन की सराहना की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!