मोदी के निशाने पर नीतीश ज्यादा, राहुल कम

पटना | एजेंसी: गांधी मैदान में गुरुवार को रैली को संबोधित करते हुए नरेन्द्र मोदी ने कहा कि नीतीश कुमान को प्रधानमंत्री बनने के सपने आ रहे हैं. इसलिए उन्होंने भाजपा के साथ विश्वासघात किया, लेकिन यह विश्वासघात बिहार की कोटि-कोटि जनता के साथ विश्वासघात हुआ है.

मोदी ने कहा कि लोकतंत्र के चार दुश्मन हैं. ये परिवारवाद, जातिवाद, संप्रदायवाद और अवसरवाद हैं. बिहार में ये चारों चीजें उभरकर सामने आई हैं. जनता दल द्वारा भाजपा नेतृत्व वाले राजग गठबंधन से अलग होने के बारे में मोदी ने कहा कि जिन्होंने जेपी को छोड़ दिया वह बीजेपी को क्यों नहीं छोड़ देंगे.


हुंकार रैली में मोदी का प्रमुख निशाना नीतीश कुमार रहे. उन्होंने कहा कि वह बिहार में प्रचार करने इसलिए नहीं आए हैं उनका उद्देश्य तो बिहार को जंगलराज से मुक्त कराना था.

मोदी ने लालू प्रसाद के बहाने बिहार और उत्तर प्रदेश के यादवों को लुभाने की कोशिश की. मोदी ने कहा कि जब लालू का एक्सीडेंट हुआ था तो उन्होंने लालू को फोन कर हालचाल लिया. उसके बाद लालू ने मीडियाकर्मियों से कहा कि जिस व्यक्ति को मैं गाली देता हूं उसने मेरा हालचाल लिया.

मोदी ने आगे कहा कि उनको गरीबी का और रेलवे की समस्याओं का पूरा पता है. रेल के डिब्बे में चाय बेचने वाले को रेलवे की समस्याओं का जितना पता होता है उतना रेल मंत्री को भी पता नहीं होता. मोदी ने कहा कि जितना कीचड़ उछाला जाएगा कमल उतना ही खिलेगा.

राहुल गांधी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि मैं उन्हें शहजादा कहना छोड़ दूंगा यदि कांग्रेस वंशवाद को छोड़ दे तब.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!