मतदान की निगरानी हेलीकॉप्टर से

भोपाल | एजेंसी: मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए में मतदान सोमवार, 25 नवंबर को होने जा रहा है. मतदान के लिए चाक चौबंद इंतजाम किए गए हैं. एक तरफ जहां अर्ध सैनिकों के साथ पुलिस बल की तैनाती की गई है, वहीं नक्सल प्रभावित इलाकों में हेलीकॉप्टर से निगरानी की जा रही है.

राज्य में सोमवार को चार करोड़ 66 लाख से अधिक मतदाता 2586 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे. राज्य में 53946 मतदान केंद्रों में से 14950 मतदान केंद्र संवेदनशील हैं. इसके अलावा 60 विधानसभा क्षेत्र आर्थिक मामले में गंभीर हैं.


प्रदेश में सभी 230 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में शांतिपूर्ण और निष्पक्ष चुनाव संपन्न करवाने के लिए बड़ी संख्या में सुरक्षा कम्पनियां और पुलिस बल तैनात किए गए हैं. जिलों में शनिवार को सुरक्षा कम्पनियों द्वारा फ्लैग मार्च भी किया गया. सेन्ट्रल पैरा मिल्रिटी फोर्स, सीएपीएफ , स्पेशल आम्र्ड पुलिस की 552 कम्पनियों की तैनाती मध्य प्रदेश में की गई है. ज्यादा गड़बड़ी की आशंका वाले निर्वाचन क्षेत्रों में अधिक कम्पनियां तैनात की जाएंगी.

नक्सल प्रभावित बालाघाट और सिंगरौली जिले में 22 नवंबर से 25 नवंबर तक एक-एक हेलीकाप्टर से गश्त की जा रही है. छह अन्य राज्यों से 29 हजार 500 होमगार्ड के जवान चुनाव के दौरान सुरक्षा-व्यवस्था के लिए राज्य को प्राप्त हुए हैं.

चुनाव में शांति बनाए रखने के लिए पड़ोसी राज्य को स्पर्श करने वाली सीमाओं को सील कर विशेष निगरानी रखी जा रही है. इतना ही नहीं बाहर के लोगों को वापस जाने और बाहर से लोगों के न आने पर भी जोर दिया जा रहा है. वहीं रविवार से मतदान दलों के रवाना होने का सिलसिला शुरू हो गया है.

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी जयदीप गोविन्द ने बताया है कि प्रदेश के 51 जिलों की 230 विधानसभा सीटों के लिए 25 नवंबर को एक ही चरण में मतदान कराया जा रहा है. प्रदेश में चार करोड़ 66 लाख 31 हजार 759 मतदाताओं में महिला मतदाताओं की संख्या दो करोड़ 20 लाख के करीब है. सुचारु मतदान के लिए चार लाख 80 हजार अधिकारी-कर्मचारियों की सेवाएं ली जा रही हैं.

अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी वी़ एल़ कान्ता राव ने बताया है कि आर्थिक रूप से 60 संवेदनशील विधानसभा क्षेत्रों में विशेष चौकसी रखी जा रही है. विभिन्न जांच दलों द्वारा अवैध रूप से रखे गए नौ करोड़ रुपये की जब्ती की गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!