समर्थक के पक्ष में उतरे कंवर

कोरबा | संवादादाता: छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री ननकी राम कंवर ने कहा है कि जिला प्रशासन उनके समर्थकों को साजिशाना तरीके से निशाना बना रहा है. गृहमंत्री ननकी राम कवर के करीबी भाजपा नेता और अग्रवाल सभा के अध्यक्ष गोपाल मोदी पर शासकीय कार्य में बाधा व तहसीलदार से अभद्र व्यवहार पर दर्ज हुए अपराध के बाद गृहमंत्री ननकीराम कँवर अपने समर्थक गोपाल मोदी के बचाव में उतरे गए है. ननकी राम कंवर ने जिला प्रशासन पर ज्यादती का आरोप लगाया है. उन्होंने प्रशासन को आड़े हाथ लेते हुए धार्मिक कार्यों में बाधा डालने का भी आरोप लगाया है.

ननकी राम कंवर ने कहा है कि उन्होंने इस मुद्दे पर कलेक्टर और मुख्यमंत्री रमन सिंह से भी बात की है. उन्होंने गोपाल मोदी को शांत प्रिय लड़का बताते हुये कहा कि कोरबा जिला प्रशासन इससे पहले भी अग्रसेन जयंती के मौके पर अग्रवाल समाज के लोगों का बैनर पोस्टर हटा दिया था.


गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के कोरबा में पुलिस ने शासकीय काम में बाधा पहुंचाने के आरोप में गृहमंत्री के खास समर्थक के खिलाफ गैरजमानतीय मामला दर्ज किया है.

कांग्रेस विधायक जयसिंह अग्रवाल ने जिला निर्वाचन अधिकारी के समक्ष शिकायत की थी कि कुछ लोगों द्वारा उनके घर के सामने सीसीटीवी कैमरे लगाकर निगरानी की जा रही है. इस मामले की जांच में पहुंचे अधिकारियों के साथ भाजपा नेता गोपाल मोदी ने कथित रुप से बदसलुकी की जिसके बाद पुलिस ने मामले में अपराध दर्ज कर लिया है.

इधर विधायक जयसिंह अग्रवाल ने पुलिस समेत जिला प्रशासन को अपनी जान का खतरा होने की शिकायत दर्ज कराई है.

कोरबा विधायक जयसिंह अग्रवाल ने 5 अक्टूबर को जिला निर्वाचन अधिकारी के पास शिकायत दर्ज कराई थी कि उनके निवास के सामने बने अग्रसेन भवन में लगाये गये कैमरे से उनके घर में निगरानी की जा रही है.

इस मामले में निर्वाचन अधिकारी ने जांच के लिये कोरबा तहसीलदार के नेतृत्व में एक टीम को भेजा. आरोप है कि उपस्थित भाजपा नेता और गृहमंत्री के खास समर्थक गोपाल मोदी ने अधिकारियों के साथ न केवल बदसलुकी की बल्कि शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने का भी काम किया.

इसके बाद तहसीलदार ने मौके पर पुलिस को सूचना देकर पहले कैमरा निकलवाये जाने की कार्रवाई की. बाद में पुलिस ने तहसीलदार की रिपोर्ट पर मोदी के खिलाफ धारा 186,353 के तहत गैरजमानतीय अपराध दर्ज कर लिया. इधर मामले के शिकायतकर्ता ने पुलिस के सामने जान का खतरा होने की शिकायत करते हुये अतिरिक्त सुरक्षा की मांग की है.

विधायक जयसिंह अग्रवाल ने शंका जाहिर किया है कि पिछले दिनों पिस्टल के साथ पकड़ाये आरोपियों का नार्को टेस्ट कराना चाहिए साथ ही उनके मोबाईल फोन के कॉल डिटेल भी निकाला जाना चाहिए ताकि उनके मंसूबे जाहिर हो सकें. इधर पुलिस की मानें तो उनके द्वारा आरोपियों से पूछताछ की गई है लेकिन दोनों मामले की कोई कड़ी जुड़ती उनको नज़र नहीं आती है.

अब माना जा रहा है कि गृहमंत्री ननकी राम कंवर के इस हस्तक्षेप के बाद पुलिस और कंवर के बीच एक बार फिर से विवाद शुरु होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!