ननकीराम चला रहे मलेरिया भगाओ अभियान

कोरबा | विशेष संवाददाता: छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री ननकीराम ने राज्य में चल रही भाजपा की विकास यात्रा के साथ-साथ अपने विभानसभा क्षेत्र रामपुर में मलेरिया निरोधक होम्योपैथी दवा बांटने का अभियान भी चला रखा है. गौरतलब है कि इन दिनों कोरबा जिले में कई गांव मलेरिया के चपेट में है जिनमें रामपुर भी शामिल है.

जिले में मलेरिया पीड़ितों की संख्या दिनोदिन बढ़ रही है और दर्जनों लोग कोरबा शहर आ कर मलेरिया का उपचार करा रहे हैं. जहां स्वास्थ्य विभाग मलेरिया के चपेट में आए गावों में स्वास्थ्य शिविर लगा कर उपचार करने की बात कह रहा है वहीं ननकाराम कंवर ने दावा किया है कि मलेरिया की इस दवा को खाने के बाद बुखार नहीं आता है.


ऐसे में विकास यात्रा के लिए अपने रामपुर पहुँचे ननकीराम कंवर इलाके के लोगों को ऐरालाम नामक होम्योपैथी दवां बाट रहे हैं. यह वही दवा है जो राज्य सरकार द्वारा कोरबा जिले के करतला, पोडी उपरोडा और कटघोरा के अलावा प्रायोगिक तौर पर बांटी गई थी.

स्वाथ्य विभाग और स्थानीय चिकित्सकों का कहना है कि इससे कुछ फायदा हुआ है या नहीं इसका आंकलन तीन से चार साल बाद ही पता चलेगा लेकिन राज्य के गृहमंत्री ननकीराम ने इसे रामबाण दवा होने का प्रमाणपत्र जरूर दे दिया है. अब तक ननकी राम नोन बिर्रा, टेवानारा, ठाकुरखेता, करतला, रामपुर इत्यादी क्षेत्रों में ये दवा बांट चुके हैं.

ननकीराम का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग अपने नियमानुसार मलेरिया पर नियंत्रण करने में लगा है लेकिन मुझे पता है कि ऐरालाम दवा से लोग ठीक हो रहे हैं. वैसे दवा का असर तो बाद में ही पता चलेगा लेकिन इतना तो स्पष्ट है कि दवा बांटने के ननकीराम कंवर का यह उपक्रम उनके जनसंपर्क कार्यकर्म में निश्चित तौर पर फायदा दे रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!