मोदी टीम राजनाथ में शामिल

नई दिल्ली | संवाददाता: भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने अपनी नई टीम में गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को शामिल कर लिया है. भाजपा के संसदीय बोर्ड में आने वाले अकेले मुख्यमंत्री हैं. राजनाथ सिंह के मिशन 2014 के लिये बनाई गई इस टीम में मोर्चा नेता के बतौर ही छत्तीसगढ़ को एंट्री मिली है. नरेंद्र मोदी के करीबी और गुजरात दंगों के लिये चर्चित रहे अमित शाह को भी महासचिव बनाया गया है. वरुण गांधी भी संसदीय दल में महासचिव पद पर चुने गये हैं. उमा भारती और प्रभात झा को पार्टी उपाध्यक्ष बनाया गया है.

संसदीय बोर्ड भाजपा की सर्वोच्च समिति होती है और इसके सभी सदस्य चुनाव प्रबंधन समिति के भी सदस्य होते हैं. चुनाव उम्मीदवारों से जुड़े फैसले हों या किसी नए नेता की पार्टी में एंट्री, सभी फ़ैसले बोर्ड द्वारा तय किए जाते हैं. ऐसे में संसदीय बोर्ड में मोदी की एंट्री को राष्ट्रीय स्तर की राजनीति की शुरुआत के रूप में देखा जा रहा है. गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को संसदीय बोर्ड का सदस्य बनाने की अटकलें उनके लगातार तीसरी बार गुजरात चुनाव जीतने के बाद से ही चल रही थीं.


हालांकि एक बड़ा तबका मानता है कि संसदीय बोर्ड एक ऐसा ढांचा है, जिसका कोई खास महत्व नहीं है. कहा जाता है कि नरेंद्र मोदी को बोर्ड में इसलिये ही रखा गया है कि प्रधानमंत्री के तौर पर उनकी उम्मीदवारी को अल्प विराम दिया जाये. संसदीय बोर्ड में नरेंद्र मोदी की उपस्थिति कहीं न कहीं उन्हें उलझाएगी और पार्टी में प्रधानमंत्री पद के दूसरे उम्मीदवारों के लिये जगह बन सकेगी.

नये संसदीय बोर्ड के सदस्य हैं- राजनाथ सिंह, अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, एम वैंकेया नायडू, नितिन गडकरी, सुषमा स्वराज, अरुण जेटली, नरेंद्र मोदी, अनंत कुमार, थावर चंद्र गहलोत और राम लाल.

दस सदस्यीय महासचिव मंडल में राजनाथ सिंह ने वरुण गांधी और अमित शाह को जगह दी है. इन महासचिवों में अनंत कुमार, थावर चंद्र गहलोत, जे पी नड्डा, धर्मेंद्र प्रधान, तापिर गांव, अमित शाह, वरुण गांधी, राजीव प्रताप रुडी, मुरलीधर राव और राम लाल शामिल हैं.

पार्टी के 15 सदस्यीय सचिव मंडल में श्याम जाजू, भूपेंद्र यादव, कृष्णा दास ,अनिल जैन, विनोद पांडे, त्रिवेंद्र रावत, रामेश्वर चौरसिया, श्रीमती आरती मेहरा, श्रीमती रेणु कुशवाहा, श्रीमती सुधा यादव, श्रीमती सुधा मालवीय, श्रीमती पूनम महाजन, श्रीमती लुई मरांडी, श्रीमती तमिल इसाई और सुश्री वाणि त्रिपाठी शामिल हैं.

मोर्चाओं के अध्यक्ष के तौर पर छत्तीसगढ़ के दुर्ग की सांसद सरोज पांडेय को महिला मोर्चा का अध्यक्ष बनाया गया है, वहीं युवा मोर्चा का जिम्मा अनुराग ठाकुर को मिला है. एससी मोर्चा संजय पासवान को, एसटी मोर्चा फग्गन सिंह कुलस्ते को, अल्पसंख्यक मोर्चा अब्दुल राशिद को और किसान मोर्चा ओम प्रकाश धनाकर को दिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!