नक्सली दहशत से बंद रहा बोराई-सिहावा मार्ग

धमतरी | एजेंसी: छत्तीसगढ़ में रविवार से शुरू हुए नक्सलियों के शहीदी सप्ताह के पहले दिन धमतरी जिले के अंतर्गत आने वाला बोराई-सिहावा मार्ग नक्सलियों की चेतावनी के कारण बंद रहा. वाहनों की आवाजाही नही होने से अंचल में सन्नाटा पसरा रहा. इस मार्ग पर नक्सलियों ने एक स्मारक बनाया था जिसे स्थानीय पुलिस द्वारा ध्वस्त कर दिया गया.

गौरतलब है कि नक्सलियों ने 28 जुलाई से शहीदी सप्ताह मनाने का फैसला किया है. इस सप्ताह के दौरान वे जंगल में जगह-जगह स्मारक बनाकर अपने मृत साथियों को याद करते हैं. पता चला है कि नक्सलियों ने इस बार शहीदी सप्ताह के दौरान ग्रामीणों को भी बुलाकर संदेश देंगे.


नक्सलियों के शहीदी सप्ताह के दौरान वाहनों की आवाजाही भी बंद रहने की चेतावनी दी गई है जिस कारण बोराई व सिहावा मार्ग बंद रहा.

नक्सलियों ने ग्रामीणों की बैठक लेने की रणनीति बनाई है. बिरना सिल्ली के जंगल में नक्सलियों ने शहीदी सप्ताह मनाने के लिए स्मारक बनाए थे जिसे पुलिस की सर्चिग टीम ने ध्वस्त कर दिया है. कुछ जगहों पर नक्सलियों ने बैनर, पोस्टर भी चिपकाए हैं जिससे अंदरूनी इलाके में दहशत का माहौल है.

एडिशनल एसपी एम.आर. आहिरे ने नक्सलियों के द्वारा बैनर, पोस्टर चिपकाए जाने की बात से हालांकि इनकार किया है. उन्होंने आगे कहा कि पुलिस पार्टी लगातार जंगली इलाकों में तलाशी कर रही है और शहीदी सप्ताह पर नजर रख रही है.

इलाके के पुलिस अधीक्षक अकबर राम कोर्राम ने शहीदी सप्ताह शुरू होने के एक दिन पहले 27 जुलाई को एसपी कार्यालय के सभा हॉल में पुलिस अधिकारियों की आकस्मिक बैठक आहूत कर आवश्यक निर्देश दिए थे . उन्होंने नक्सली इलाकों में पदस्थ अधिकारियों से शहीदी सप्ताह पर एलर्ट रहने के लिए कहा है.

बताया जा रहा है कि सिहावा अंचल के रिसगांव, बिरनासिल्ली, आमगांव, अजुर्नी, सोढूर के आगे के इलाकों में नक्सलियों की आवाजाही इन दिनों ज्यादा बढ़ गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!