‘Negative Promotion’ से ‘पीके’ की कमाई बढ़ी

मुंबई | मनोरंजन डेस्क: फिल्म ‘पीके’ का जितना विरोध हो रहा है उसके दर्शकों की संख्या उतनी ही बढ़ती जा रही है. ‘पीके’ के रिलीज होने के पहले आमिर खान, अनुष्का शर्मा, बोमन ईरानी तथा राजु हिरानी ने इसके प्रमोशन के लिये जी तोड़ मेहनत की थी. अब ‘पीके’ के रिलीज हो जाने के बाद ‘नेगेटिव प्रमोशन’ के माध्यम से ‘पीके’ का जोरदार प्रचार हो रहा है. इसी के साथ ‘पीके’ की कमाई भी बढ़ रही है. फिल्म ‘पीके’ ने दो सप्ताह में 200 करोड़ की कमाई भारत में ही कर ली है. उम्मीद है कि इसी तरह से यदि ‘पीके’ के खिलाफ माहौल बनाने की कोशिशे जारी रही तो 300 करोड़ के कमाई के रिकॉर्ड को स्थापित करने से ‘पीके’ को रोका नहीं जा सकेगा. उल्लेखनीय है कि फिल्म ‘पीके’ के रिलीज होने के करीब 10 दिनों बाद उसका विरोध शुरु हुआ. इससे दर्शकों में मन में ‘पीके’ के प्रति उत्सुकता बढ़ी तथा बॉक्स ऑफिस में धमाल कमाई शुरु हो गई.

लखनऊ में तोड़फोड़

हिंदू युवा वाहिनी ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में विधानभवन के सामने प्रतिभा सिनेमाघर पर प्रदर्शन कर नारेबाजी की. हालांकि पुलिस बल ने स्थिति को काबू में रखा. वाहिनी के कार्यकर्ता सिनेमा घर में तोड़फोड़ करने की फिराक में थे, लेकिन पुलिस ने उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया.

वाहिनी के नगर अध्यक्ष सुनील शुक्ला ने कहा कि फिल्म में हिंदू देवी-देवताओं का मजाक उड़ाया गया है, जिसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने फिल्म पर तत्काल बैन लगाने की मांग की. साथ ही ऐसा न होने पर समूचे प्रदेश में उग्र आंदोलन की चेतावनी दी.

नई दिल्ली में पुतले फूंके

आमिर खान की फिल्म ‘पीके’ के खिलाफ बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को दिल्ली के डिलाइट और प्रिया सिनेमाघरों पर प्रदर्शन किया और पुतले फूंके. बजरंग दल की तरफ से विश्व हिंदू परिषद की दिल्ली इकाई के महामंत्री रामकृष्ण श्रीवास्तव ने कहा कि फिल्म के माध्यम से षड्यंत्रपूर्वक धार्मिक भावनाएं भड़का कर देश को सांप्रदायिक आग में झोंका जा रहा है. गृह मंत्रालय को अविलंब संज्ञान में लेकर इस पर अंकुश लगाना चाहिए.

बजरंग दल के प्रांत सुरक्षा प्रमुख श्याम कुमार के नेतृत्व में आए प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए प्रांत संयोजक नीरज दोनेरिया ने मांग की कि हिंदूद्रोही फिल्म ‘पीके’ पर अविलंब प्रतिबंध लगाया जाए. फिल्म के आईएसआई से लिंक की जांच की जाए तथा फिल्म सेंसर बोर्ड के चरित्र को भी ठीक किया जाए.

भुवनेश्वर में बैनर जलाये

ओडिशा की राजधानी में बजरंग दल ने मंगलवार को विभिन्न सिनेमाघरों पर प्रदर्शन कर आमिर खान की फिल्म ‘पीके’ पर प्रतिबंध की मांग की. बजरंग दल का आरोप है कि फिल्म हिदुओं की भावनाओं के खिलाफ है. प्रदर्शनकारियों ने यहां एक सिनेमाघर में तोड़फोड़ की. उन्होंने फिल्म के पोस्टर और बैनरों को भी जलाया. इस फिल्म की कहानी एक ऐसे साधु पर आधारित है, जो अपने हितों के लिए धर्म का दुरुपयोग करता है.

भुवनेश्वर जिले के बजरंग दल के समन्वयक भूपेश नायक ने संवाददाताओं से कहा, “फिल्म में हिंदू धर्म का अपमान और देवी-देवताओं का उपहास किया गया है. फिल्म में दुबई और पाकिस्तान का पैसा लगा है. यह फिल्म हिंदू धर्म को कमजोर बनाने की एक साजिश है. इस पर तत्काल रोक लगनी चाहिए.” अभी तक फिल्म ‘पीके’ के विरोध में तोड़फोड़ करने वालों पर कोई कड़ी कार्यवाही नहीं की गई है. आमिर खान ने भी अपनी कोई प्रतिक्रिया अब तक जाहिर नहीं की है. आमिर खान चुप हैं क्योंकि ‘Negative Promotion’ से ‘पीके’ की कमाई बढ़ती ही जा रही है. आमिर खान को इंतजार है कि कब ‘पीके’ भारत के धरती पर 300 करोड़ कमाने वाली पहली फिल्म बनेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *