बेरगोगलियो बने नये पोप

वैटिकन: वैटिकन सिटी में नए पोप का चुनाव हो गया है. कार्डिनल जॉर्ज मारियो बेरगोगलियो नए पोप बन गये हैं. रोमन कैथोलिक चर्च के नए पोप चुने गए 76 साल के फ्रांसिस प्रथम का जन्म अर्जेंटीना में हुआ. वे पहले ऐसे पोप हैं जिनका संबंध लातिन अमरीका से है. इन्हें पोप फ्रांसिस प्रथम के नाम से जाना जाएगा. 3 मार्च 2013 तक उन्हें कार्डिनल ख़ोर्खे मारियो बेरगोगलियो के नाम से जाना जाता था.

पिछले कई दशकों से एक फेफड़े के सहारे जी रहे फ्रांसिस प्रथम फ़ुटबाल के प्रशंसक हैं और ब्यूनस आयर्स की टीम को पसंद करते हैं. नये पोप गर्भ निरोध के खिलाफ हैं और समलैंगिक विवाह को भी नापसंद करते हैं.


पोप के रूप में चुने जाने के बाद सबसे पहले उन्होंने ऐतिहासिक सेंट पीटर्स बैसिलिका की बालकनी में आकर वहां मौजूद लोगों को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि मेरे कार्डिनल भाइयों को पोप चुनने के लिए दुनिया के अंतिम छोर तक जाना पड़ा. पोप को दो तिहाई बहुमत से चुना गया. पोप की चुनाव प्रक्रिया में 115 कार्डिनल ने भाग लिया है. भारत से भी 5 कार्डिनल इस प्रक्रिया में शामिल थे.

पिछले महीने पोप बेनेडिक्ट 16वें ने खराब सेहत का हवाला देते हुए अपना पद छोड़ दिया था, जिसके बाद नए पोप को चुनने की प्रक्रिया शुरू हुई थी. बेनेडिक्ट 16वें ने ऐसे समय में पोप का पद छोड़ा था जब कैथोलिक चर्च बाल यौन शोषण और वैटिकन में करप्शन के आरोपों से जूझ रहा है. नए पोप 266वें पोप होंगे और वह करीब 1.5 अरब ईसाइयों का नेतृत्व करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!