मानवाधिकार आयोग का छत्तीसगढ़ को नोटिस

कांकेर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में नसबंदी कराने वाली महिलाओं के साथ लापरवाही के मामले में मानवाधिकार आयोग ने नोटिस जारी किया है. नसबंदी शिविर में आई महिलाएँ को जमीन पर सोने के लिए मजबूर किए जाने की खबर अखबारों में प्रकाशित होने के बाद मानवाधिकार आयोग ने छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव औऱ कांकेर के कलेक्टर को नोटिस जारी कर दो सप्ताह में जवाब देने को कहा है.

मानवाधिकार आयोग के अनुसार कांकेर जिले के धनेली खन्हार में नसबंदी शिविर का आयोजन किया गया था. आपरेशन के बाद महिलाओं को बिस्तर मुहैया नहीं कराया गया और उन्हें जमीन पर सोने के लिए मजबूर किया गया. इस मामले में मीडिया में खबर आने के बाद कुछ बिस्तरों का प्रबंध किया गया. इतना ही नहीं, महिलाओं को घंटों इंतजार करना पड़ा क्योंकि डॉक्टर देरी से वहां पहुंचे.

मानवाधिकार आयोग ने कहा है कि यदि प्रकाशित खबरें सत्य हैं तो इससे स्वास्थ्य के अधिकार और महिलाओं के सम्मान के उल्लंघन का गंभीर मुद्दा खड़ा होता है. आयोग के अनुसार प्रकाशित खबरों पर स्वत: संज्ञान लेते हुए हमने राज्य के मुख्य सचिव, कांकेर के जिला दंडाधिकारी को नोटिस जारी कर दो सप्ताह में रिपोर्ट भेजने के लिए कहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *