मातृभूमि खींच लाई निक्की को अमृतसर

अमृतसर | एजेंसी: भारतीय मूल की पहली अमरीकी गवर्नर निक्की हेली आज भी अपने जन्म स्थान पंजाब को नहीं भूली हैं. वैसे भारतीय मूल के लोगों ने अमरीका के अन्य क्षेत्रों के समान ही राजनीति में पैठ बना ली है. एक सिख परिवार में जन्मी लिक्की ने अमरीका के एक राज्य की गवर्नर बनकर देश के साथ ही पंजाब का भी नाम रौशन किया है. वही निक्की हेली शुक्रवार की शाम सिखों के इस पवित्र शहर में पहुंचीं. हेली के पिता अजित सिंह रंधावा एक सिख थे. वह शनिवार को सिख श्रद्धालुओं के सबसे पवित्र धर्मस्थल हरमंदर साहिब में प्रार्थना करेंगी.

60वें दशक की शुरुआत तक हेली का परिवार अमृतसर के वेरका उपनगर में रहता था, इसके बाद उनका परिवार अमरीका चला गया. हेली अपने इस पारिवारिक राज्य में लगभग 40 साल बाद आ रही हैं.

1972 में जन्मीं निक्की अमृतसर से 250 किलोमीटर दूर स्थित शहर चंडीगढ़ आई थीं. उस समय उनकी उम्र दो साल थी.

शादी से पहले निक्की हेली का नाम निमृता रंधावा था. पहली बार नवंबर 2010 में दक्षिणी केरोलीना का गवर्नर चुने जाने पर हेली के रिश्तेदारों ने वेरका में खूब जश्न मनाया था. हेली को दक्षिणी वेरका का दूसरी बार गवर्नर चुना गया है.

पंजाब की यात्रा पर आईं हेली ने अपनी खुशी जताते हुए कहा, “आखिरी बार जब मैं यहां आई थी उस समय मेरी उम्र केवल दो साल थी. मैं दरबार साहिब जाने के लिए उत्सुक हूं.”

हेली 10 दिनों की भारत यात्रा पर हैं. इस दौरान वह अपने राज्य में निवेशकों को लुभाने के लिए नई दिल्ली, मुंबई चंडीगढ़ और अमृतसर जाएंगी.

अमृतसर में वह शनिवार को स्वर्ण मंदिर और जलियांवाला बाग घूमने जाएंगी. वह गुरु नानाक विश्वविद्यालय जाएंगी और अपने रिश्तेदारों से भी बात करेंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *