मोदी के मुरीद हुये ओबामा

वाशिंगटन | समाचार डेस्क: अमरीकी राष्ट्रपति ओबामा भारत के पीएम मोदी द्वारा लागू की गई सुधार प्रक्रिया को मुरीद हो गये हैं. इसका खुलासा ओबामा द्वारा ‘टाइम’ में लिखे एक लेख ‘भारत में सुधारवाद के प्रमुख’ से होता है. ओबामा ने लिका है कि एक ओर मोदी गरीबी को दूर करना चाहते हैं वहीं दूसरी ओर को देश को डिजिटलाइजेशन की ओर भी ले जा रहें हैं. दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा में कसीदे पढ़ते हुए उन्हें देश का मुख्य सुधारक करार दिया. प्रतिष्ठित टाइम पत्रिका में इस साल दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों की सूची में भारतीय मूल के चार लोग शामिल हैं.

‘टाइम’ पत्रिका की प्रभावशाली भारतीयों की सूची में मोदी के अलावा आईसीआईसीआई बैंक की मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर, माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नाडेला तथा गैर सरकारी संगठन संगत के सह-संस्थापक विक्रम पटेल हैं.


टाइम पत्रिका में ‘भारत में सुधारवाद के प्रमुख’ शीर्षक नाम से एक लेख में ओबामा ने लिखा, “भारतीयों को अपने रास्ते पर चलने में मदद के लिए दृढ़ संकल्पित मोदी ने जलवायु परिवर्तन का सामने करने के बावजूद अत्यंत निर्धनता को दूर करने, शिक्षा में सुधार, महिला सशक्तीकरण तथा भारत की वास्तविक आर्थिक क्षमता को बाहर लाने के लिए एक महत्वाकांक्षी दृष्टिकोण सामने रखा है.”

प्रतिष्ठित ‘टाइम’ पत्रिका में ओबामा ने लिखा कि एक लड़का मोदी परिवार की जीविका के लिए अपने पिता की चाय बेचने में मदद करता था.

उन्होंने लिखा, “आज वह दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के नेता हैं और गरीबी से प्रधानमंत्री बनने की उनकी जीवनी उभरते भारत की गतिशीलता व क्षमता को दर्शाता है.”

ओबामा ने इन बातों के साथ मोदी के बारे में लिखे अपने लेख की शुरुआत की है. मोदी को टाइम पत्रिका की दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल किया गया है.

उन्होंने लिखा, “भारत की तरह, वे आधुनिकता और परंपरा के समागम हैं. जो योग के लिए समर्पित हैं और भारतीय नागरिकों से ट्विटर के जरिए जुड़ते हैं व डिजिटल इंडिया का सपना देखते हैं.”

मोदी के पिछले साल सितंबर में वाशिंगटन दौरे को स्मरण करते हुए ओबामा ने लिखा, “जब वह वाशिंगटन आए थे, तो नरेंद्र और मैंने मार्टिन लूथर किंग जूनियर के स्मारक का दौरा किया था.”

उन्होंने लिखा, “मोदी इस बात को मानते हैं कि एक अरब से ज्यादा भारतीय दुनिया के लिए प्रेरक बन सकते हैं.”

उन्होंने लिखा, “हमने मार्टिन लूथर और गांधी की शिक्षाओं को याद किया कि कैसे हमारे देशों की पृष्ठभूमि और धर्मो की विविधिता जो कि हमारी ताकत है हमें इसकी रक्षा करना है. मोदी इस बात को मानते हैं कि भारत में एक अरब से भी ज्यादा भारतीय साथ-साथ रह रहे हैं और आगे बढ़ रहे हैं, ये दुनिया के लिए प्रेरक बन सकते हैं.”

डॉएच बैंक के उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी अंशु जैन ने चंदा कोचर के बारे में लिखा है कि वह एक दृष्टिकोण रखने वाली व पहुंच वाली बैंकर हैं.

जैन ने लिखा, “चंदा ने भारत के सबसे बड़े निजी बैंक को वैश्विक नक्शे पर लाया.”

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नाडेला को प्रतिवर्तन कलाकार करार दिया, जो माइक्रोसॉफ्ट को एक बार फिर बुलंदियों तक ले जा रहे हैं.

एनजीओ संगत व लंदन स्कूल ऑफ हाइजीन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन में सेंटर फॉर ग्लोबल मेंटल हेल्थ के सह संस्थापक विक्रम पटेल को कल्याण करने वाला योद्धा करार दिया गया है.

मलाला यूसुफजई लगातार तीसरे वर्ष टाइम्स की सूची में जगह बनाने वाली सबसे कम उम्र की व्यक्ति रहीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!