आदिवासी छात्रों से मुखातिब हुए मून

भुवनेश्वर | एजेंसी: संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की-मून ने ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर स्थित कलिंगा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज के 25 आदिवासी छात्र-छात्राओं से वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए सीधी बातचीत की. संस्थान के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मून और एक दल ने सोमवार शाम छात्रों के साथ बातचीत की.

न्यूयार्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय के साथ इस सीधी वार्ता के लिए एशिया, अफ्रीका, मध्य-पूर्व, लैटिन अमेरिका और यूरोप से एक-एक स्कूल चुने गए थे. चुने गए इन पांचों स्कूलों के 100 से अधिक छात्र-छात्राओं ने बातचीत में हिस्सा लिया.

मून ने अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस (आईवाईडी) के अवसर पर विश्वभर के युवाओं के साथ बातचीत की और विशेष दूत अहमद अलहेंदावी के साथ इस विषय पर युवाओं के लिए एक ऑनलाइन मंच की शुरुआत की. वर्ष 2000 से हर वर्ष 12 अगस्त को अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है.

मून ने उनसे कहा, “विश्व में आपकी पीढ़ी अब तक की सबसे बड़ी पीढ़ी हैं. आपको उपलब्ध संपर्क और कार्य के साधन बेमिसाल हैं. लेकिन बढ़ती असमानता, अवसरों के संकुचन और जलवायु परिवर्तन एवं पर्यावरण दुर्दशा जैसी चुनौतियां खड़ी हैं.”

संस्थान के अधिकारी ने बताया कि कलिंगा इस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज को एशिया महाद्वीप की तरफ से चुना गया था.

उन्होंने कहा, “बातचीत के दौरान विश्वभर के छात्र-छात्राओं द्वारा विभिन्न विषयों और शिक्षा, स्वास्थ्य, शासन, आजीविका, रोजगार और विज्ञान से जुड़ी चिंताओं को उठाया गया.”

उन्होंने लड़कियों की शिक्षा के संबंध में पूछे गए छात्र-छात्राओं के विभिन्न सवालों के भी जवाब दिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *