उमर का भाजपा पर पलटवार

श्रीनगर | एजेंसी: किश्तवाड़ हिंसा को देश की संप्रभुता के लिए खतरा बताने वाले भाजपा नेता अरुण जेटली पर जम्मू एवं कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने जोरदार हमला बोला है. उन्होंने सोमवार को कहा कि 2002 के गुजरात दंगों पर राज्य की भाजपा सरकार की प्रतिक्रिया कपटपूर्ण थी.

अब्दुल्ला ने ट्विटर पर लिखा,”क्या जेटली संसद को बताएंगे कि 2002 के गुजरात दंगों के बाद गृह मंत्री या गृह राज्य मंत्री ने इस्तीफा दिया था.”


उन्होंने कहा, “किश्तवाड़ में तीन मौते हुई हैं. एक हिदू की और दो मुस्लिमों की. मेरे एक मंत्री ने इस्तीफा दिया और हम न्यायिक जांच करा रहे हैं. क्या भाजपा 2002 की प्रतिक्रिया से इसकी तुलना करेगी.”

उमर ने लिखा, “वह ऐसा नहीं कर सकते क्योंकि उनके स्टार प्रधानमंत्री इस बात का इंतजार करते रहे कि सेना की बुलाई जाएगी, और वे उसके लिए अभी तक माफी नहीं मांगे हैं. पाखंड.”

इससे पहले राज्यसभा में किश्तवाड़ की हिंसा पर जेटली ने कहा, “यह संप्रदायों के बीच संघर्ष नहीं था. सांप्रदायिक संघर्ष में पड़ोसी देश के झंडे नहीं फहराए जाते. यह देश की संप्रभुता को खतरे का मुद्दा है.” जेटली ने कहा कि यदि स्थिति पर नियंत्रण नहीं किया गया तो फिर 1990 जैसे हालात पैदा हो जाएंगे.

केंद्रीय नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री फारुख अब्दुल्ला ने चर्चा में हस्तक्षेप करते हुए गुजरात दंगों का मुद्दा उठाया और कहा कि गुजरात दंगों में 1,000 से अधिक लोग मारे गए. उनमें से अधिकांश मुसलमान थे. दंगों के दौरान सेना को अहमदाबाद में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई थी.

उल्लेखनीय है कि किश्तवाड़ की हिंसा के लिए गंभीर आलोचनाओं का सामना कर रहे जम्मू एवं कश्मीर के गृह राज्य मंत्री सज्जाद अहमद किचलू ने सोमवार को इस्तीफा दे दिया. उधर मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी (माकपा) ने भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर आरोप लगाया है कि वे जम्मू क्षेत्र में मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा को उकसावा दे रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!