पाकिस्तान: ब्लास्ट में 14 मृत

इस्लामाबाद | समाचार डेस्क: पाकिस्तान के क्वेटा पोलिये सेटर के पास में हुये विस्फोट में 14 सुरक्षाकर्मी मारे गये. अब तक 20 अन्य के घायल होने की सूचना है जिसमें से 7 गंभीर रूप से घायल हैं. सूत्रों के अनुसार घायलों की संख्या में इज़ाफा हो सकता है. पाकिस्तान के क्वेटा शहर में एक पोलियो केंद्र के पास बुधवार को एक विस्फोट हुआ, जिसमें 14 सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई और दर्जन से अधिक अन्य लोग घायल हुए हैं. राष्ट्रपति ममनून हुसैन और प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने विस्फोट की निंदा की. बलूचिस्तान के गृहमंत्री मीर सरफराज बुगती ने बताया कि विस्फोट में मारे गए लोगों में 13 पुलिसकर्मी थे, जबकि एक अर्धसैनिक फ्रंटियर कोर का जवान था.

हालांकि, ताजा खबर से पता चला है कि इस विस्फोट में एक नागरिक की भी मौत हुई है और घायलों की संख्या बढ़कर 20 हो गई है.


विस्फोट के बाद बुगती ने संवाददाताओं को बताया, “निश्चित तौर पर इस विस्फोट को एक आत्मघाती हमलावर ने अंजाम दिया है.”

बुगती ने कहा, “यह विस्फोट बलूचिस्तान की शांति भंग करने के लक्ष्य से किया गया. हम आतंकवादियों के आगे घुटने नहीं टेकेंगे.”

क्वेटा के पुलिस उपमहानिरीक्षक सैयद इम्तियाज शाह ने कहा कि इस विस्फोट में सात से आठ किलोग्राम का विस्फोटक इस्तेमाल किया गया है. उन्होंने कहा कि इस विस्फोट में मारे गए लोगों को पोलियो कार्यकर्ताओं की सुरक्षा के लिए तैनात किया गया था.

पीड़ितों में ज्यादातर पुलिस अधिकारी हैं और उन्हें क्वेटा के सिविल अस्पताल में भर्ती किया गया है. क्वेटा में आपातकाल घोषित कर दिया गया है.

एक वरिष्ठ चिकित्सक रशीद जमाली ने ‘डॉन’ को बताया कि गंभीर रूप से घायल पांच पीड़ितों को क्वेटा के संयुक्त सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि उन्होंने इलाके में एक जोरदार विस्फोट और उसके बाद गोलियां चलने की आवाज भी सुनी. बचावकर्मी तुरंत घटनास्थल पर पहुंच गए.

सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर ली है. किसी भी संगठन ने अभी तक इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है.

पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन और प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने इस विस्फोट की निंदा की. नवाज ने अस्पताल प्रशासन को घायलों को हरसंभव चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!