भारतीय चौकियों पर नापाक हमला

जम्मू | समाचार डेस्क: जम्मू एवं कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के पास पाक सेना ने शुक्रवार को मोर्टारों से गोले दागे. घटना सुबह के 7.30 बजे से 7.55 के बीच का है. बताया जा रहा है कि इस हमले में एक भारतीय जवान शहीद हो गया है. रक्षा विभाग के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मनीष मेहता ने बताया, “पाकिस्तान सेना ने पुंछ के भीमबेर गली सेक्टर में संघर्ष विराम का उल्लंघन किया, और छोटे हथियारों, स्वचालित हथियारों व मोर्टार से हमारी चौकियों को निशाना बनाया.”

वहीं जम्मू-कशमीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने घटना के बाद एक ट्वीट में कहा, “राजौरी और पुंछ में संघर्ष विराम का गंभीर उल्लंघन. कुछ गोले असैन्य नागरिक बस्तियों में गिरे. कुछ मवेशी मारे गए हैं.” उन्होंने ट्वीट में लिखा, “क्या यह महज एक संयोग है कि रक्षा मंत्री सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए कल जम्मू एवं कश्मीर के अपने पहले दौरे पर आ रहे हैं?”


गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के बाद मंत्री परिषद के शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के आने से ऐसा लग रहा था कि दोनों देशों के बीच आपसी संबंध सुधरेंगे परन्तु शुक्रवार को बिना किसी उसकावे के पाक सुरक्षा बलों द्वारा नियंत्रण रेखा के पार गोले दागे जाने से यह स्पष्ट हो गया कि पाकिस्तान की ओर से युद्ध विराम की संधि का बार-बार उलंघन किया जाता रहेगा.

गौर कने वाली बात यह है कि अप्रैल के अंत और मध्य मई में एलओसी के करीब संघषर्विराम उल्लंघन की 19 घटनाएं हुई थी. 2013 में संघषर्विराम उल्लंघन के 149 मामले में भारत-पाक सीमा के करीब अग्रिम चौकियों, गश्ती दलों, नागरिकों पर पाकिस्तानी सैनिकों की गोलीबारी की घटनाओं में 12 जवान मारे गए और 41 घायल हुए थे.

इस घटना के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सेना प्रमुख जनरल बिक्रम सिंह और उप सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल दलबीर सुहाग से मुलाकात की. इस दौरान सेना की तैयारियों पर चर्चा हुई. साथ ही भारतीय सीमाओं पर मौजूदा सुरक्षा हालात का आंकलन किया गया. सेना प्रमुख और प्रधानमंत्री के बीच तीन घंटे तक बैठक चली. इस दौरान रक्षा मंत्री अरूण जेटली भी मौजूद थे. कुल मिलाकर इसे पाक सेना की नापाक हरकत करार दिया जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!