पाक में प्रदर्शन के चलते पीटीवी बंद

इस्लामाबाद | समाचार डेस्क: पाक प्रदर्शनकारियों ने पीटीवी के दफ्तर में कब्जा कर लिया है. इसके बाद प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री के सरकारी आवास की ओर बढ़ रहें हैं. स्थिति को बिगड़ते देख सेना ने प्रधानमंत्री के आवास की घेराबंदी शुरु कर दी गई गै. पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के इस्तीफे की मांग कर रहे प्रदर्शनकारी सोमवार को पाकिस्तान टेलीविजन पीटीवी के दफ्तर में घुस आए. इस वजह से इस्लामाबाद में प्रसारण बाधित हो गया. समाचार पत्र ‘डॉन’ की वेबसाइट के अनुसार, प्रदर्शनकारी पीटीवी के नियंत्रण कक्ष में भी घुस आए.

हालांकि, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता इमरान खान ने कहा कि पीटीआई समर्थक पीटीवी की इमारत में नहीं घुसे थे. उन्होंने कहा कि अगर पीटीआई समर्थक इमारत के अंदर मिलते हैं, तो उन्हें पार्टी से बाहर कर दिया जाएगा.


इमरान ने कहा, “मैं प्रदर्शनकारियों से क्षेत्र के अंदर कोई भी हिंसक गतिविधि और उन कृत्यों को करने से बचने की अपील करता हूं, जिनसे पार्टी की बदनामी हो.”

सेना की टुकड़ियां पीटीवी दफ्तर पहुंच गईं और इमारत की सुरक्षा शुरू कर दी है.

इससे पहले, इमरान ने विरोध-प्रदर्शन को 17 दिनों तक चलाने के लिए प्रदर्शनकारियों को बधाई दी थी और उन्हें किसी भी तरह के हिसक झड़पों से बचने के लिए शांत रहने का निर्देश दिया था.

उन्होंने पाकिस्तान अवामी तहरीक के प्रमुख तहीरुल कादरी से भी अपने समर्थकों को शांतिपूर्ण तथा अहिंसक रहने का निर्देश देने के लिए कहा था.

इस बीच, इस्लामाबाद में प्रदर्शनकारी सचिवालय क्षेत्र से बाहर निकलकर प्रधानमंत्री आवास की ओर बढ़ गए.

पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को आगे बढ़ने से रोकने के लिए आंसू गैस, रबर की गोलियों और लाठी चार्ज का सहारा लिया, जिसमें पांच लोग घायल हो गए.

अधिकारियों के अनुसार, पुलिस की ओर से प्रतिरोध का सामना कर रहे एक प्रदर्शनकारी ने प्रधानमंत्री आवास के रास्ते में एक कंटेनर को आग लगा दी.

पुलिस द्वारा आंसू गैस के गोले और रबर बुलेट्स का उपयोग किए जाने से बौखलाए प्रदर्शनकारियों ने भी पुलिस पर पथराव किया.

यह विरोध-प्रदर्शन 15 अगस्त को पीटीआई प्रमुख इमरान खान और पीएटी प्रमुख कादरी की अगुवाई में नवाज शरीफ को हटाए जाने की मांग को लेकर शुरू हुआ था. शरीफ पर वर्ष 2013 के आम चुनावों में धांधली करने का आरोप है. इमरान और कादरी नवाज से प्रधानमंत्री पद से इस्तीफे की मांग कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!