पाकिस्तान आतंकियों का गढ़: अमरीका

वाशिंगटन | समाचार डेस्क: अमरीकी विदेश मामलों की समिति ने पाकिस्तान को आतंकियों का सबसे बड़ा पनाहगार कहा है. इस अमरीकी समिति ने कहा है कि पाकिस्तान की समझ के अनुसार जो अच्छे आतंकवादी हैं, वहीं अफगानिस्तान को बर्बाद कर रहें हैं. उन्होंने पाकिस्तान को दी जा रही अमरीकी आर्थिक सहायता पर भी सवाल उठाये हैं. अमरीका में प्रतिनिधि सभा की विदेश मामलों की समिति के अध्यक्ष रिपब्लिकन पार्टी के एड रायस ने पाकिस्तान को आतंकियों का गढ़ बताया है. उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठनों ने अफगानिस्तान को अस्थिर किया है और ये भारत के लिए खतरा हैं.

‘फ्यूचर आफ यूएस-पाकिस्तान रिलेशन्स’ पर सुनवाई के दौरान अपने शुरुआती बयान में रायस ने कहा कि 9/11 के आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान इस्लामी आतंकवाद से लड़ने में मुख्य भागीदार बन गया. 15 साल से उसे भारी भरकम अमरीकी मदद मिल रही है. लेकिन, अमरीका ने पाकिस्तान को जिस तरह गले लगाया, पाकिस्तान ने जवाब में वही जज्बा नहीं दिखाया.


रायस ने कहा, “पाकिस्तान में सरकारें आती-जाती रहेंगी. लेकिन, पाकिस्तान आतंकियों का स्वर्ग बना रहेगा. इसकी सुरक्षा एजेंसियां जिन्हें ‘अच्छा’ इस्लामी आतंकवादी समूह मानती हैं, उनकी मदद करती रहेंगी. ये ‘अच्छे’ इस्लामी आतंकवादी समूह, अफगानिस्तान को अस्थिर कर रहे हैं और भारत को धमका रहे हैं.”

उन्होंने कहा कि उनकी समिति ने हमेशा पाकिस्तान से कहा कि वह अपने यहां के आतंकी समूहों से निपटे लेकिन दुर्भाग्य से पाकिस्तान चरमपंथी इस्लामी सोच का स्रोत बना हुआ है.

समिति के सामने पेश हुए अफगानिस्तान और पाकिस्तान में अमरीका के प्रतिनिधि रिचर्ड जी. ओल्सन ने कहा कि पाकिस्तान ने आतंकवाद के खिलाफ जंग में काफी कुर्बानियां दी हैं. लेकिन, उसे अपने यहां मौजूद आतंकी समूहों के खिलाफ और कदम उठाना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!