गिरफ्तारी वारंट खुशखबरी: इमरान

इस्लामाबाद | एजेंसी: क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान खान ने जमानत लेने से इंकार कर दिया है. जाहिर है कि इससे पाक प्रधानमंत्री शरीफ के लिये मुस्किले खड़ी हो सकती है. अगर इमरान खान को गिरफ्तार किया जाता है तो पाकिस्तान के राजनीति में फिर से उबाल आ सकता है. पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के अध्यक्ष इमरान खान संसद भवन और पीटीवी की इमारत पर हमले के आरोप में जमानत लेने से इंकार कर दिया. ‘डॉन’ के अनुसार, आतंकवाद निरोधी अदालत ने बुधवार को इमरान के खिलाफ सितंबर में हुए हमले में उनकी कथित भूमिका को लेकर उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है.

इस खबर को सुनने के बाद इमरान ने कहा, “मैंने गिरफ्तारी वारंट की खुशखबरी सुनी है. मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि मैं उस दिन सिर्फ कंटेनर में सो रहा था.”


पीटीआई प्रमुख ने कहा कि सरकार ने उनके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है क्योंकि प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को पीटीआई की 30 नवंबर को इस्लामाबाद में होने वाली जनसभा से खतरा है.

इमरान ने कहा कि उन्हें गिरफ्तार किया जाता है तो 30 नवंबर को पाकिस्तान के इतिहास की सबसे बड़ी जनसभा आयोजित होगी.

पीटीआई नेता ने कहा, “मेरे लिए जेल में रहना आसाना होगा, क्योंकि मैं पिछले तीन महीने से कंटेनर में रह रहा हूं, लेकिन नवाज, मैं आपको बता दूं कि आपको मेरी गिरफ्तारी की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी.”

उन्होंने कहा कि जांच में यह साबित हो चुका है कि यह सबकुछ ‘फिक्स मैच’ की तरह था और पीटीवी इमारत पर हमले में अंदर के लोग मिले हुए थे.

इमरान ने कहा कि पीटीआई कार्यकर्ता हमले में शामिल नहीं थे. उन्होंने कहा, “मैंने खुद समर्थकों से पीटीवी परिसर से दूर रहने को कहा था.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!