PAK ने किया अपने उच्चायुक्त का खंडन!

इस्लामाबाद | समाचार डेस्क: अब एक चौंका देने वाले बयान में पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने भारत में अपने उच्चयुक्त अब्दुल बासित के बयान का खंडन किया है. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने अब्दुल बासित के उलट कहा है कि भारत के साथ वार्ता के किसी विकल्प को बंद नहीं किया गया है. उल्लेखनीय है कि इसी माह की सात तारीख को अब्दुल बासित ने कहा था कि भारत के साथ शांति प्रक्रिया निलंबित हो गई है.

बासित ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा, “फिलहाल बैठक के लिए कोई तारीख तय नहीं की गई है. मुझे लगता है कि वर्तमान में शांति प्रक्रिया निलंबित हो गई है.”

पाकिस्तान ने भारत के साथ शांति वार्ता स्थगित होने की अटकलों को खारिज करते हुए कहा कि दोनों पड़ोसी मुल्कों के बीच बातचीत जारी है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने गुरुवार को एक साप्ताहिक मीडिया ब्रीफिंग के दौरान कहा, “हमें आगे देखने की जरूरत है और हम किसी विकल्प को बंद करने के बारे में नहीं सोच रहे हैं. दोनों देश एक-दूसरे के संपर्क में हैं.”

समाचार-पत्र ‘डॉन’ की वेबसाइट की शुक्रवार की रिपोर्ट के अनुसार, जकारिया उन मीडिया रिपोर्टों का जिक्र कर रहे थे, जिनमें भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित के हवाले से कहा गया है कि शांति प्रक्रिया ‘स्थगित’ हो गई है.

उन्होंने कहा, “वार्ता सर्वश्रेष्ठ विकल्प है. कूटनीति देशों के बीच परस्पर बातचीत व वचनबद्धता के लिए होती है.”

भारत और पाकिस्तान पिछले साल दिसंबर में शांति वार्ता नए सिरे से शुरू करने के लिए तैयार हो गए थे, जिसे व्यापक द्विपक्षीय वार्ता का नाम दिया गया था.

पिछले साल 25 दिसंबर को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अचानक लाहौर दौरे के दौरान इस पर सहमति बनी थी कि दोनों देशों के विदेश सचिव वार्ता के पहले चरण से संबंधित कार्यक्रम व अन्य बातों पर फैसला लेने के लिए मिलेंगे.

इस साल जनवरी में भारत के पठानकोट में हुए आतंकवादी हमले के बाद वार्ता ठंडे बस्ते में चली गई और तब से दोनों देशों के विदेश सचिवों की मुलाकात तय नहीं हो पाई है. हालांकि जकारिया ने कहा है कि एक बार बातचीत की प्रक्रिया तय हो जाने के बाद मुलाकात होगी.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *