पटना में अफवाहों का तांडव, 32 मरे

पटना | समाचार डेस्क: पटना में रावण दहन के समय तार टूटने की अफवाहों से मची भगदड़ में अब तक 32 मारे गये. मरने वालों में महिलाएं तथा बच्चे की संख्या ज्यादा है. इसके अलावा करीब 100 लोगों के घायल होने की खबर है. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार पटना के गांधी मैदान में रावण दहन देखने के लिये करीब 5लाख लोगों की भीड़ पहुंची थी. प्रधानमंत्री राहत कोष से मृतकों के परिजनों को 2-2लाख रुपये तथा घायलों को 50हजार कुपये देने की घोषणा की गई है. दिल्ली से केन्द्र सरकार ने एयर एंबुलेंस तथा चिकित्सक भेजे हैं. पटना के निकट स्थित दानापुर सैन्य अस्पताल से भी चिकित्सक घायलों के इलाज के लिये भेजे गये हैं. एनडीआरएफ की टीम को भी घटना स्थल के लिये रवाना कर दिया गया.

बिहार की राजधानी के एक इलाके में दशहरा उत्सव की खुशी और उल्लास शुक्रवार की शाम चीख-पुकार और मातम में तब्दील हो गई. रावण दहन के दौरान बिजली का तार टूटकर गिरने की अफवाह फैलने से मची भगदड़ के कारण 32 लोगों की जान चली गई. हादसे में 100 लोग घायल हुए हैं, जिन्हें पटना मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है. राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडे ने बताया कि दशहरा उत्सव के दौरान भगदड़ मचने से महिलाओं और बच्चों सहित 32 लोगों की मौत हो गई और अन्य 100 घायल हुए हैं. घायलों को पीएमसीएच में भर्ती कराया गया है. उन्होंने बताया कि घटना की जांच अपर पुलिस महानिदेशक और गृह सचिव करेंगे.

पटना के एग्जीविशन रोड के पास रावण दहन के दौरान बिजली का तार टूटकर गिरने की अफवाह फैल गई जिससे घबराकर लोग इधर-उधर भागने लगे. भगदड़ मच जाने से कई लोग एक-दूसरे के ऊपर गिर गए और कुचले जाने से इनमें से 32 लोगों के प्राण छूट गए. भगदड़ के बाद कई लोग और बच्चे अपनों से बिछुड़ गए हैं. एग्जीविशन रोड इलाके में अफरा-तफरी का माहौल है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *