पहला सफल लिंग प्रत्यारोपण

नई दिल्ली | बीबीसी: हृदय, किडनी तथा लीवर के बाद अब लिंग के सफल प्रत्यारोपण की खबर है. लिंग प्रत्यारोपण न केवल सफल रहा है बल्कि वह व्यक्ति पिता बनने वाला है. इसे चिकित्सा विज्ञान की बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है. दुनिया में जिस व्यक्ति का सबसे पहला लिंग प्रतिरोपण हुआ था वो बाप बनने वाला है.

उस व्यक्ति का आपरेशन करने वाले सर्जन डॉक्टर आंद्रे फन डेर मैरवे ने बीबीसी से कहा कि उस व्यक्ति की गर्लफ्रेंड चार माह की गर्भवती है.


डॉक्टर आंद्रे फन डेर मैरवे ने कहा कि इसका मतलब है ‘लिंग प्रतिरोपण कामयाब रहा’.

21-साल के नौजवान का ख़तना हुआ था जो ख़राब हो गया जिसकी वजह से उसका लिंग नष्ट हो गया था.

दक्षिण अफ़्रीक़ा के निवासी इस युवक का लिंग प्रतिरोपण दिसंबर महीने में किया गया था.

हालांकि उसका नाम गुप्त रखा गया है.

स्टेलेनबॉश विश्वविद्यालय और टाइगुरबर्ग अस्पताल के सर्जनों को इस आपरेशन में नौ घंटे का लंबा समय लगा था.

दक्षिण अफ़्रीक़ी नौजवान पर जिस लिंग का प्रतिरोपण हुआ था वो उसे दान में दिया गया था.

डॉक्टर आंद्रे फन डेर मैरवे ने कहा कि वो इस ख़बर से बहुत ख़ुश हैं कि उस व्यक्ति की गर्लफ्रेंड गर्भवती है और उन्होंने पितृत्व परीक्षण की ज़रूरत इसलिए नहीं समझी क्योंकि इस मामले में शक की कोई वजह नहीं नज़र आती है.

डॉक्टर आंद्रे फन डेर मैरवे ने कहा ‘लिंग प्रत्यारोपण कामयाब रहा’

डॉक्टर आंद्रे फन डेर मैरवे ने बीबीसी से कहा, “हम यही चाहते थे, कि वो सामान्य व्यक्ति की तरह जिए, पेशाब कर पाए, संभोग कर सके, इसलिए ये उसके जीवन में एक तरह से मील का पत्थर है.”

उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति को प्रतिरोपण किया गया था उसमें बच्चा पैदा कर पाने में किसी तरह की अयोग्यता का सवाल ही नहीं था क्योंकि ख़राबी उसके लिंग में आई थी न कि उसके अंडकोष में.

ख़तने में ख़राबी के बाद भी उस व्यक्ति के लिंग का क़रीब इंच भर ठीक तरह से काम कर रहा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!