मुशर्रफ लौटेंगे पाकिस्तान ?

दुबई: पाकिस्तान की पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के पाकिस्तान वापसी पर सस्पेंस बना हुआ है. मुशर्करफ ने पिछले सप्ताह ही दावा किया था कि वे जल्दी ही पाकिस्तान लौटेंगे.दुबई में आयोजित एक पत्रकार सम्मेलन में मुशर्रफ ने कहा था कि मैंने फैसला किया है कि कार्यवाहक सरकार बनने के एक हफ्ते के अंदर मैं पाकिस्तान लौट जाऊंगा. कार्यवाहक सरकार 16 मार्च तक बन सकती है. उन्होंने कहा था कि लोग कहते हैं कि मेरे खिलाफ मामले हैं और खतरा है. मैं खतरों से नहीं डरता हूं और मैं इसे खुदा पर छोड़ता हूं. लेकिन मुशर्रफ की घोषणाओं के मद्देनजर कम से कम पाकिस्तान में उनकी बात पर यकीन करने वाले कम ही हैं. पाकिस्तान के राजनीतिक गलियारे में मुशर्रफ के ताजा दावे को भी केवल पैंतरे के तौर पर देखा जा रहा है.

गौरतलब है कि 2008 में सत्ता छोड़ने के बाद से ही परवेज मुशर्रफ स्वनिर्वासन में रह रहे हैं. उनके खिलाफ पाकिस्तान की अलग-अलग अदालतों ने गिरफ्तारी के वारंट जारी किए हुये हैं. 2006 में बलोच नेता अकबर खान बुगटी की मौत और 2007 में पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की हत्या के मामले में पाकिस्तान की पुलिस को परवेज मुशर्रफ की तलाश है. हालांकि मुशर्रफ कोई छुप कर नहीं रह रहे हैं लेकिन वे पाकिस्तान लौटने से भी डर रहे हैं. पाकिस्तान की एक आतंकरोधी अदालत ने उन्हें भगौड़ा घोषित कर रखा है.


जनरल परवेज मुशर्रफ ने 1998 में नवाज शरीफ का तख्ता पलट कर पाकिस्तान की सत्ता पर कब्जा किया था और लगातार उन्होंने 2008 तक पाकिस्तान पर शासन किया. इससे पहले 2001 में मुशर्रफ ने खुद को पाकिस्तान का राष्ट्रपति घोषित कर दिया था. लेकिन 2008 में देश में बनते राजनीतिक दबाव के कारण वे पाकिस्तान से भाग गये और तब से वे पाकिस्तान से बाहर ही रह रहे हैं.

इससे पहले भी कई बार मुशर्रफ ने पाकिस्तान लौटने की घोषणा की थी. पिछले साल ठीक इसी समय उन्होंने पाकिस्तान लौटने की बात कही थी. यहां तक कि जब उनके नहीं लौटने का मामला आया तो उन्होंने बजाप्ता खंडन जारी करते हुये कहा था कि मैं जल्दी ही पाकिस्तान लौट रहा हूं. मैं 23 मार्च 2012 को लौटने वाला था. लेकिन मैंने 27 या 30 जनवरी 2012 को पाकिस्तान लौटने का मन बनाया है. उहोंने कहा था कि मेरी विरुद्ध पाकिस्तान में गिरफ़्तारी का वारंट इसलिए जारी हुआ है क्योंकि मैं कोर्ट में उपस्थित नहीं पाया था. उन्होंने कहा कि ये क़ानूनी मसले हैं. ये गलत धारणा है कि मुझ पर कोई आरोप हैं या मैंने कोई आपराधिक कार्य किया है. जब मैं पाकिस्तान लौटूंगा और अदालत में उपस्थित होउंगा तो सब ठीक हो जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!