ओडिशा-आंध्र के तटों से टकराया फेलिन

भुवनेश्वर | एजेंसी: चक्रवाती तूफान फेलिन शनिवार शाम नौ बजे के करीब ओडिशा के तटवर्ती गोपालपुर से टकराया. इस दौरान हवा की गति 200 किलोमीटर प्रतिघंटा बनी रही और साथ ही ओडिशा तथा आंध्र प्रदेश के तटवर्ती इलाकों में बारिश जारी है.

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के महानिदेशक एल. एस. राठौर ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि अगले छह घंटे तक चक्रवाती तूफान की तीव्रता यथावत बनी रहेगी.


राठौर ने कहा, “चक्रवाती तूफान फेलिन आंध्र एवं ओडिशा के तटों से टकरा चुका है, तथा इसे तटवर्ती इलाके से गुजरने में एक घंटा लगेंगे. इस दौरान हवा की गति 200 किमी. प्रतिघंटा दर्ज की गई, और इसके अगले एक घंटे के दौरान 210 किमी प्रतिघंटा तक बढ़ने की उम्मीद है.”

राठौर ने कहा, “चेतावनी के बावजूद कुछ लोग प्रभावित इलाकों में बने हुए हैं. सुरक्षा बलों ने उन्हें चेतावनी दी है. पुलिस उन्हें वहां से हटाने की कोशिश में लगी हुई है.”

बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान फेलिन के ओडिशा तट से टकराने से पहले ही तटीय इलाके भारी बारिश और तेज हवाओं की चपेट में आ गए, और इसमें कम से कम पांच व्यक्तियों की मौत हो गई. इनमें से दो की मौत गंजम जिले में, जबकि दो की मौत जगदीशपुर जिले में तथा एक व्यक्ति की मौत भुवनेश्वर में हुई.

चार मौतें पेड़ों के उखड़कर व्यक्तियों के ऊपर गिरने के कारण हुईं. एक 80 वर्षीय महिला की मौत उस समय हो गई, जब वह अपने मिट्टी के मकान में सो रही थी और मकान ढह गया.

उल्लेखनीय है कि चक्रवाती तूफान की अत्यधिक तीव्रता की आशंकाओं के मद्देनजर आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटीय इलाकों से चार लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!