शशि को जेटली ने दिया Phalke Award

मुंबई | मनोरंजन डेस्क: जिस पृथ्वी थियेटर से शशि कपूर ने अपने अभिनय के करियर की शुरुआत की थी उसी पृथ्वी थियेटर में उन्हें दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से नवाज़ा गया. इस खास मौके गवाह बने शशि कपूर के साथ कई फिल्में कर चुके अमिताभ तथा शबाना आज़मी. केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अरुण जेटली ने रविवार को पृथ्वी थियेटर में अनुभवी अभिनेता-फिल्म निर्माता शशि कपूर को सिनेजगत का प्रतिष्ठित सम्मान दादासाहेब फाल्के पुरस्कार प्रदान किया. 77 वर्षीय शशि कपूर व्हील चेयर के सहारे मंच पर आए और पुरस्कार ग्रहण करने बाद उन्होंने दोनों हाथ जोड़कर आभार व्यक्त किया. सिनेमा जगत के प्रतिष्ठित कपूर खानदान के लिए यह तीसरा दादासाहेब फाल्के पुरस्कार है.

समारोह में दादासाहेब फाल्के पुरस्कार के सदस्यों के अलावा अभिनेता अमिताभ बच्चन और उनके बेटे अभिनेता अभिषेक बच्चन भी मौजूद थे.

शशि कपूर अस्वस्थ होने के कारण तीन मई को आयोजित राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में शामिल होने दिल्ली नहीं जा पाए थे, इसलिए केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने मुंबई आकर रविवार को उन्हें पुरस्कार सौंपा.

कार्यक्रम में शशि कपूर के करियर और निजी जीवन यात्रा पर निर्मित एक विशेष वीडियो भी दिखाया गया. इस वीडियो में अमिताभ, शबाना आजमी, शर्मिला टैगोर, ऋषि कपूर, रणधीर कपूर ने शशि के प्रति अपने विचार व्यक्त किए हैं.

शशि कपूर ने 1940 में बाल कलाकार के रूप में सिनेमा में पर्दापण किया था. 1948 में आई फिल्म ‘आग’ और 1951 में आई ‘आवारा’ में बाल कलाकार के तौर पर उनके अभिनय को विशेष रूप से याद किया जाता है, जिसमें उन्होंने अपने पिता राजकपूर के बचपन की भूमिका निभाई थी.

शशि कपूर ने ‘सत्यम शिवम सुंदरम’, ‘त्रिशूल’, ‘कभी कभी’, ‘विजेता’ और ‘कलयुग’ जैसी फिल्मों में काम किया था. नब्बे के दशक के उत्तरार्ध के बाद से उन्होंने फिल्मी चकाचौंध से खुद को दूर कर लिया था.

Shashi Kapoor conferred Dadasaheb Phalke Award:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *