आपका फोन टेप हो रहा है

नई दिल्ली | संवाददाता: आपका फोन भी अब टेप हो सकता है और सुरक्षा एंजेसी आपके ईमेल को भी खंगाल सकती हैं. अमरीका में सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर भले दुनिया भर के फोन कॉल और ईमेल को खंगाला जाता हो लेकिन भारत में भी जल्दी ही सरकार ऐसा करने वाली है. हालांकि सूत्रों का दावा है कि भारत में यह काम शुरु भी कर दिया गया है.

गौरतलब है कि केंद्रीय गृह सचिव आरके सिंह ने साफ किया था कि हम जल्द ही पूरी तरह से चाक-चौबंद निगरानी प्रणाली सीएमएस शुरू करेंगे. इस सीएमएस का मतलब था कि सरकार आपके फोन कॉल और मैसेज पर नजर रखने के साथ ही आपके ई-मेल में भी ताक-झांक कर सकेगी. यह काम भारत में अप्रैल से शुरु भी कर दिया गया है. संभव है कि किसी अवांछित जानकारी की उम्मीद में आपका फोन कॉल भी टेप किया जा रहा हो और आपका मेल भी पढ़ा जा रहा हो. इससे पहले भी गूगल से भारत सरकार ने 4750 लोगों के डाटा मांगे थे. दुनिया में गूगल से जिन देशों ने उपभोक्ताओं के डाटा मांगे थे, उनमें भारत दूसरे नंबर पर था.


भारत सरकार के इस निगरानी कार्यक्रम में सुरक्षा एजेंसी और आयकर बिना कोर्ट की अनुमति के फोन टेप करने का काम कर सकती हैं. इसके लिये देश के 90 करोड़ लैंडलाइन व मोबाइल फोन उपभोक्ता और एक करोड़ 20 लाख इंटरनेट उपभोक्ताओं में किसी को भी लक्ष्य बनाने में सुरक्षा एजेंसियों को कोई परेशानी नहीं होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!